फुसरो ओवरब्रिज पर हो सकता था बड़ा हादसा, पलटा ट्रक

राकेश मिश्रा की स्पेशल रिपोर्ट :

बीते देर रात निर्मल महतो चौक से होते हुए डुमरी की ओर जाने के क्रम के 2mm टी.एम.टी. से लदा एक अशोक लीलैंड ट्रक (नंबर RJ-19-GF-2087) जैसे ही ओवरब्रिज पर चढ़ा और चढ़ते ही मुड़ा, वह पलट गया और सरिया के कुछ छल्ले हाई मास्ट लाइट के पास जा गिरे, ट्रक तो लटक गया पर नीचे भीड़ नहीं थी इसलिए बस एक बड़ा हादसा होते-होते रह गया.

समाचार लिखे जाने तक दामोदर नदी हिंदुस्तान पुल से लेकर पूरे नया रोड और उधर ओवरब्रिज पार चपरी तक भयंकर जाम की स्थिति बनी है प्रशासन की मुस्तैदी बनी है और एम्बुलेंस को रास्ता दिया जा रहा है. क्रेन की सहायता से एक-एक कर सरिया के छल्लों को नीचे किया जा रहा है, ट्रक को हटाने की कवायद जारी है, पर ट्राफिक खुलने कुछ वक्त लग सकता है.

हो सकता था बड़ा हादसा. फुसरो का यह इलाका काफी भीड़-भाड़ वाला होता है, प्रायः ही यहाँ से बड़ी-बड़ी गाड़ियाँ और भारी वाहनों का आवागमन बदस्तूर जारी रहता है, ऐसे में कभी भी इस प्रकार का हादसा हो सकता है, इससे इनकार नहीं किया जा सकता है. चढ़ाई पर तेजी से बिना अपना पिकअप खोये चढ़ने के क्रम में और तेजी में मुड़ने के कारण हुआ यह हादसा.

शुरू से ही इस ओवरब्रिज की इंजीनियरिंग को लेकर सवाल उठते रहे हैं, कि इसकी ड्रापिंग सही नहीं है. पर हमारे कंस्ट्रक्शन करने वाली कंपनी को इससे क्या मतलब जैसे-तैसे मार्च तक कोटा पूरा करना था इसलिए आनन फानन में ओवरब्रिज पूरा कर डाला. भीड़-भाड़ होने से बड़ी गाड़ियों की रफ्तार काम ही रहती है तो अब तक आसानी से काम चलता आया. पर इन दिनों इस मार्ग पर आवाजाही बढ़ी है. यह सड़क N.H.-2 G.T. Road से जुड़ी रहने के कारण इस पर अवागमन बहुत ही ज्यादा है.