बेरमो प्रखंड परिसर में प्रशासन की चेतवानी के बाद भी जारी है जुआ

फुसरो, शहीद निर्मल महतो चौक के पास, सुलभ शौचालय के पीछे, बेरमो प्रखंड कार्यालय के बगल में और बेरमो थाना के सामने प्रखंड कार्यालय के शौचालय के टंकी के ऊपर वर्षों से वहाँ खड़े करने वाले पिक-अप वैन के चालकों और कुछ स्थानीय लोगों द्वारा सरेआम जुआ खेला जाता है.

ऐसा नहीं है कि यह आज कल से खेला जा रहा है वर्षो पूर्व जब बाज़ार में सड़कों का चौडीकरण हुआ था और तब से ही ऑटो व पिक-अप वैन के चालकों ने बेरमो थाना एवं बेरमो प्रखंड के बीच सड़क के किनारे वाहनों को खड़ा करना शुरू किया. उस समय से ही ग्राहक की प्रतीक्षा में खड़े वाहनों के चालकों ने समय व्यतीत करने के लिए सबसे पहले लूडो खेलना शुरू किया. आगे जाकर वही लूडो का खेल शर्तों व रुपयों के खेल में परिणत हो गया जो की अब ताश की पत्तियों से सरेआम खेला जा रहा है.

आस पास लोग नजरें बचा कर गुजरते देखे जा सकते हैं. इस प्रकार खुले में यह खेल सामाजिक संस्कारों के विरुद्ध एक चुनौती के रूप में देखा जाना चाहिए. रोज कई बच्चे जो उस ओर से गुजरते हैं. इस प्रकार के परिवेश का क्या दुष्प्रभाव पड़ सकता है उनके जीवन में किसी को इस बात की चिंता नहीं है. हम समाज के इस रूप को कैसे सहन कर पाते हैं, यह एक विचारणीय विषय-वस्तु है. प्रशासन के नाक के नीचे चल रहे इस खेल को अब तक नहीं रोका जा सका है.

इसे रोकना इसलिए भी आवश्यक है कि जिस स्थान पर यह खेल खेला जाता है वह कोई मनोरंजन स्थल नहीं बल्कि रास्ता है जो कि प्रशासनिक क्षेत्र के परिसीमा में आता है. आने-जाने वालों को यह परिदृश्य कुप्रभावित करता है. यह खेल, खुले में शौच से भी बदतर है जो हमारी मानसिकता को प्रदूषित कर रहा है. ऐसे कृत्यों को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया जाना चाहिए.

विगत दिनों किये गए प्रशासनिक हस्तक्षेप का भी कोई असर नहीं दिखाई दे रहा और खेल बदस्तूर जारी है. यह खेल दिन-ब-दिन जिस प्रकार से गंभीर होता जा रहा है कभी-कभी लड़ाई झगड़े के रूप में तो कभी पी-खाकर गाली-गलौज के रूप में कि उस ओर से किसी भी संभ्रांत का गुजरना मुश्किल हो जाता है. यह समस्या प्रशासन व समाज में मुंह पर मुहांसे के सामान है और एक प्रश्नचिन्ह है. यदि समय रहते इसका हल न निकाला गया तो वह दिन दूर नहीं जब इसका प्रभाव हमारे बाल-बच्चों पर दिखने लगे.

अपेक्षा है कि समाज व प्रशासन की ओर से कुछ आवश्यक कदम उठाये जायेंगे ताकि इस प्रकार की गतिविधियों पर लगाम लग सके.