गम न करें – १५

गम न करें, सोचें और शुक्र अदा करें.

कुछ लोग होते हैं, जिनके जेहन में, बिस्तर पर लेटे हुए आलमी जंग (world war) होती रहती है. इन्हें सुगर व ब्लड प्रेशर जैसी बीमारी हो जाती है. वाकयात से वो झुलसते रहते हैं. कीमतों में बढ़ोत्तरी हुई इन्हें गुस्सा आया, बारिश क्या हुई वो दहाड़ने लगे, करेंसी की कीमत कम हुई वो परेशान हो गए. इस तरह वो हमेशा मलाल व कलक की हालत में रहते हैं. हर आवाज को अपने ही खिलाफ समझते हैं. मेरा मशवरा है कि सारे जहाँ का दर्द लेकर मत फिरिए, हादसात जमीन में हो, आपके आंतो में न हो, बाज लोगों का दिल स्पंज होता है. जो हर तरह की गपबाजियों, अफवाहों को पीता रहता है. छोटी-छोटी बातों पर परेशान, मामूली ख़ुशी पर दिल बहार निकल जाता है. ऐसा दिल जिसका होता है उसकी शख्सियत ख़तम हो जाती है.

अहले हक की यह कैफियत होती है, इबरतें व नसीहतें इनके इमान में बढ़ोत्तरी करती हैं. हादसात और ट्रेजडियों के सामने तो एक बहादुर दिल ही ठहर सकता है. जो गैरतमंद व खुद्दार है वो अल्लाह के मदद व करम के मुश्तहक हैं. आप नेक काम करते रहिये, आपको कभी परेशान होने की जरुरत नहीं, क्योंकि अल्लाह आपके साथ है.