सुपरमून, ब्लूमून, ब्लडमून और चंद्रग्रहण : क्या कहती हैं आधुनिक विज्ञान एवं ज्योतिषीय गणनाएं

31 जनवरी को भारत और दुनिया भर के लोगों को एक दुर्लभ खगोलीय घटना देखने को मिलेगी. यह मौका है ‘ब्लडमून’, ‘सुपरमून’ और ‘ब्लूमून’ का. एक साथ ये तीनों घटनाएं भारत के लोग शाम 6.21 बजे से 7.37 बजे तक देख सकेंगे. इस दौरान चंद्रमा आम दिनों की तुलना में अधिक बड़ा और चमकदार दिखेगा. यह 2018 का पहला चंद्रग्रहण है और इस दौरान यह लाल भी दिखेगा.

नासा के अनुसार पूर्ण चंद्र ग्रहण का सबसे अच्छा नज़ारा भारत और ऑस्ट्रेलिया में दिखेगा. भारत में लोग 76 मिनट के लिए लोग बिना टेलीस्कोप या उपकरण की मदद के अपनी आंखों से सीधे इस दुर्लभ खगोलीय घटना को देख सकेंगे.

कहीं आप भी तो नहीं डरते ग्रहण से? बर्फ़ जमा चांद देखा है कभी!

भारत के अलावा यह दुर्लभ नज़ारा समूचे उत्तर अमरीका, प्रशांत क्षेत्र, पूर्वी एशिया, रूस के पूर्वी भाग, इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड में भी दिखेगा. चलिए यह जानते हैं कि यह चंद्रग्रहण इतना महत्वपूर्ण क्यों है? वैज्ञानिकों के लिए यह महत्वपूर्ण कैसे है? आख़िर सुपरमून, ब्लूमून और ब्लडमून होता क्या है?

31 जनवरी का चंद्रग्रहण तीन कारणों से है खास:

सुपरमूनः यह लोगों के पास दो महीने के भीतर लगातार तीसरी बार सुपरमून देखने का मौका है. इससे पहले 3 दिसंबर और 1 जनवरी को भी सुपरमून दिखा था. सुपरमून वह खगोलीय घटना है जिसके दौरान चंद्रमा पृथ्वी के सबसे करीब होता है और 14 फ़ीसदी अधिक चमकीला भी. इसे पेरिगी मून भी कहते हैं. धरती से नजदीक वाली स्थिति को पेरिगी (3,56,500 किलोमीटर) और दूर वाली स्थिति को अपोगी (4,06,700 किलोमीटर) कहते हैं.

ब्लूमूनः यह महीने के दूसरे फुल मून यानी पूर्ण चंद्र का मौक़ा भी है. जब फुलमून महीने में दो बार होता है तो दूसरे वाले फुलमून को ब्लूमून कहते हैं.

ब्लडमूनः चंद्र ग्रहण के दौरान पृथ्वी की छाया की वजह से धरती से चांद काला दिखाई देता है. 31 तारीख को इसी चंद्रग्रहण के दौरान कुछ सेकेंड के लिए चांद पूरी तरह लाल भी दिखाई देगा. इसे ब्लड मून कहते हैं.

यह स्थिति तब आती है जब सूर्य की रोशनी छितराकर होकर चांद तक पहुंचती है. परावर्तन के नियम के अनुसार हमें कोई भी वस्तु उस रंग की दिखती है जिससे प्रकाश की किरणें टकरा कर हमारी आंखों तक पहुंचती है. चूंकि सबसे लंबी तरंग दैर्ध्य (वेवलेंथ) लाल रंग का होती है और सूर्य से सबसे पहले वो ही चांद तक पहुंचती है जिससे चंद्रमा लाल दिखता है. और इसे ही ब्लड मून कहते हैं.

कब लगता है चंद्रग्रहण?
सूर्य की परिक्रमा के दौरान पृथ्वी, चांद और सूर्य के बीच में इस तरह आ जाती है कि चांद धरती की छाया से छिप जाता है. यह तभी संभव है जब सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा अपनी कक्षा में एक दूसरे के बिल्कुल सीध में हों.

पूर्णिमा के दिन जब सूर्य और चंद्रमा की बीच पृथ्वी आ जाती है तो उसकी छाया चंद्रमा पर पड़ती है. इससे चंद्रमा के छाया वाला भाग अंधकारमय रहता है. और इस स्थिति में जब हम धरती से चांद को देखते हैं तो वह भाग हमें काला दिखाई पड़ता है. इसी वजह से इसे चंद्र ग्रहण कहा जाता है.

खगोल वैज्ञानिकों के लिए मौका
33 साल से कम उम्र के लोगों के लिए यह पहला मौका होगा जब वो ब्लड मून देख सकते हैं. नासा के अनुसार पिछली बार ऐसा ग्रहण 1982 में लगा था और इसके बाद ऐसा मौका 2033 में यानी 25 साल के बाद आएगा. खगोल वैज्ञानिकों के लिए भी यह घटना बेहद महत्वूपर्ण मौका है. उन्हें इस दौरान यह देखने का मौका मिलेगा कि जब तेज़ी से चंद्रमा की सतह ठंडी होगी तो इसके क्या परिणाम होंगे.

ज्योतिषीय विश्लेषण :
पूर्णिमा की रात्रि को चंद्रमा पुर्णतः गोलाकार का दिखाई देता है, लेकिन कभी कभी किसी वजह से चंद्रमा के पूर्ण हिस्से पर धनुष या हंसिया के आकार की काली परछाई दिखने लगती है। जो कभी-कभी चाँद को पूरी तरह से ढक लेती है। पहली स्थिति को चन्द्र अंश ग्रहण या खंड-ग्रहण कहते है जबकि दूसरी स्थिति को पूर्ण चन्द्र ग्रहण या खग्रास कहते है।

ऐसा विशेषकर पूर्णिमा पर ही होता है। वर्ष 2018 का पहला चंद्रग्रहण भी पूर्णिमा के दिन ही दिखाई देगा। 31 जनवरी 2018 यानी माघ माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को वर्ष 2018 का पहला खग्रास चन्द्र ग्रहण होगा। इस दिन पुरे 12 घंटों तक भगवान के दर्शन करना अशुभ माना जाएगा, इसलिए इस समय मंदिरों के पट बंद रहेगे और किसी तरह की पूजा नहीं की जाएगी।

31 जनवरी 2018 को पड़ने वाला खग्रास चन्द्र ग्रहण विश्व के अन्य हिस्सों के साथ-साथ भारत में भी पूर्ण रूप से दिखाई देगा। चन्द्र ग्रहण की अवधि कुल 3 घंटे 23 मिनट की होगी। पूर्णिमा तिथि होने के कारण भगवान शिव और भगवान विष्णु की उपासना के लिए सुबह 8:28 तक का समय सही माना जा रहा है।

कौन कौन से देशों में दिखाई देगा 2018 का पहला पूर्ण चन्द्र ग्रहण :
भारत के साथ-साथ यह एशिया, ऑस्ट्रेलिया, रूस, मंगोलिया, जापान आदि के क्षेत्रों में चंद्रोदय के समय प्रारंभ होगा तथा उत्तरी अमेरिका, कनाडा तथा सुदूर पनामा क्षेत्र के कुछ भागों में चंद्रास्त के समय ग्रहण का मोक्ष दिखाई देगा। भारतीय मानक समयानुसार पूर्वोत्तर भारत के कुछ क्षेत्रों (असम, बंगाल, झारखंड, बिहार) में खंड चन्द्र ग्रहण सायं 05:58 से रात्रि 08:41 तक होगा। खग्रास चन्द्र ग्रहण की कुल अवधि 1 घंटा 16 मिनट की होगी जबकि पुरे चंद्रग्रहण की अवधि 2 घंटे 43 मिनट 10 सेकंड की होगी। इसका ग्रासमान 1.316 है।

चंद्रग्रहण 31 जनवरी 2018 की सम्पूर्ण जानकारी इस प्रकार है :-
चंद्रग्रहण का समय – शाम 05:58:00 से रात्रि 08:41:10 तक
चंद्रग्रहण की अवधि – 2 घंटे 43 मिनट 10 सेकंड
सूतक काल प्रारंभ – प्रातः 07:07:21 AM
सूतक काल की समाप्ति – रात्रि 08:41:10 PM

संवत् 2074, शक 1939, माघशुक्ल पूर्णिमा, बुधवार 31 जनवरी 2018 को खग्रास चन्द्र ग्रहण। कर्क राशि, पुष्य नक्षत्र। सूतक काल सुबह 10:18 AM से प्रारंभ हो जाएगा। ग्रहण का समय चंद्रोदय के साथ ही शुरू हो जाएगा।

ग्रहण के समय क्या ना करें?
ग्रहण के समय मूर्ति छूना, भोजन तथा नदी में स्नान करना वर्जित माना जाता है। सूतक काल के समय किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत नहीं करनी चाहिए। भोजन ग्रहण करने और पकाने से दूर रहना अच्छा माना जाता है। देवी देवताओं और तुलसी आदि को स्पर्श नहीं करना चाहिए। सूतक के दौरान गर्भवती स्त्री का घर से बाहर निकलना और ग्रहण देखना वर्जित माना जाता है। ये शिशु की सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता क्योंकि इससे उसके अंगों को नुकसान पहुँच सकता है।
इसके अलावा नाख़ून काटना, बात कटवाना, निद्रा मैथुन आदि जैसी गतिविधियों से भी ग्रहण व् सूतक काल के समय परहेज करना चाहिए। माना जाता है इस काल में स्त्री प्रसंग से बचना चाहिए अन्यथा आंखों से संबंधित बिमारियों के होने का खतरा बना रहता है।

ग्रहण समाप्त होने के पश्चात् पुरे घर को गंगाजल से शुद्ध करना चाहिए और सूतक काल प्रारंभ होने से पूर्व दूध, जल, दही, अचार आदि खान-पान की सभी चीजों में कुशा या तुलसी के पत्ते दाल देने चाहिए। माना जाता है ग्रहण के दौरान खान पान की सभी चीजें बेकार हो जाती है और वे खाने लायक नहीं रहती। ऐसा करने से आप ग्रहण समाप्त होने के बाद इन्हें पुनः खा सकते है।

31 जनवरी 2018 के चंद्र ग्रहण का विभिन्न राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

मेष – इस राशि के जातकों को ग्रहण का शुभ फल मिलेगा। आजीविका से जुड़े सभी क्षेत्रों में लाभ की प्राप्ति होगी। स्वास्थ्य का ख़ास ध्यान रखें। क्या करें – ग्रहण के दौरान भगवान शिव की उपासना करें। ग्रहण समाप्त होने पर हरी वस्तुएं दान करें।

वृषभ – आपके लिए साल का यह पहला चन्द्र ग्रहण कई मामलों में अनुकूल रहेगा। करियर में बदलाव के योग हैं। नौकरी और व्यापार में उन्नति होगी। निर्णयों लेते समय खास सावधानी रखें। अचानक धन लाभ होने की संभावना है। क्या करें – आपके लिए भगवान कृष्ण की उपासना करना अच्छा रहेगा। गृहण समाप्ति के बाद लाल फलों का दान करें।

मिथुन – इस राशि के जातकों के लिए यह चंद्र ग्रहण शुभ परिणाम नहीं दे रहा है। आर्थिक मामलों में नुकसान होने की संभावना है। सेहत का खास ध्यान रखें। क्या करें–ग्रहण में हनुमान जी की आराधना करें। ग्रहण के बाद सफ़ेद चीजों का दान करें।

कर्क – दुर्घटना के योग है, वाहन सावधानी से चलाएं। शरीर का ध्यान रखें, स्वास्थ्य खराब हो सकता है। विवादों से बचने का प्रयास करें। क्या करें – ग्रहण के समय चंद्रमा के मंत्रो का जप करें। ग्रहण समाप्त होने पर काली वस्तुएं दान करें।

सिंह – इस राशि के जातकों के लिए यह ग्रहण शुभ संकेत नहीं दे रहा है। धन हानि हो सकती है। आंखों का ध्यान रखें। गृह कलेश से बचें मानसिक चिंता परेशानी का कारण बन सकती है। क्या करें – ग्रहण के समय हनुमान चालीसा का पथ करें और समाप्त होने पर जुटे या छाते का दान करें।

कन्या – इनके लिए यह ग्रहण अनुकूल रहेगा। आकस्मिक धन लाभ के योग है। सुख सुविधा में वृद्धि हो सकती है। छोटी यात्रा की संभावना है। नौकरी सम्बन्धी निर्णयों में सावधानी बरतें। क्या करें – रामरक्षा स्त्रोत्र का पाठ करें। ग्रहण समाप्ति के बाद अन्न का दान करें।

तुला – इस राशि के जातको को चंद्रग्रहण से शारीरिक कष्टों का सामना करना पड़ सकता है। किसी बात का भय बना रहेगा। परिवार में समस्याएँ हो सकती है। किसी दुर्घटना के शिकार हो सकते है। क्या करें – ग्रहण में दुर्गा कवच का पाठ करें और समाप्ति पर काली वस्तुएं दान दें।

वृश्चिक – प्रेम संबंधों में समस्याएं हो सकती है। क्योंकि यह चंद्रग्रहण आपके लिए अनुकूल नहीं है। कोई विशेष बात परेशानी का कारण बन सकती है। सन्तान को कष्ट की संभावना है। क्या करें – हनुमान चालीसा का पाठ करें। ग्रहण समाप्त होने पर फलों का दान करें।

धनु – यह आपके लिए मिलाजुला परिणाम लेकर आएगा। धन लाभ तो होगा परन्तु खर्चे भी होंगे। नौकरी और करियर में परेशानी हो सकती है। क़ानूनी मामलों में परेशानी के योग है। वाहन ध्यान से चलायें। क्या करें – ग्रहण में चंद्रमा के मन्त्रों का उच्चारण करते रहे और बाद में सफ़ेद वस्तुओं का दान करें।

मकर – परिवार के लिए यह ग्रहण अच्छा नहीं है। जीवनसाथी से रिश्ते बिगड़ने के आसार है। व्यापार में धन की हानि हो सकती है ध्यान रखें। सेहत को लेकर परेशानी हो सकती है। क्या करें – ग्रहण में हनुमान बाहुक का पाठ करें और बाद में लाल फल का दान करें।

कुंभ – सेहत के प्रति ध्यान देने की आवश्यकता है। करियर में सफलता मिल सकती है। कोई बात चिंता ला सकती है। सफलता पाने के लिए संघर्ष करना होगा। क्या करें – ग्रहण में शिव जी का ध्यान करें और ग्रहण समाप्त होने पर निर्धनों को भोजन कराएँ।

मीन – यह चंद्रग्रहण आपको शिक्षा के क्षेत्र में परेशानी दे सकता है। पेट से संबंधी समस्या हो सकती है। गर्भवती महिलाएं खास ख्याल रखें। सन्तान पक्ष को लेकर परेशानी हो सकती है। क्या करें – ग्रहण में श्रीकृष्ण की उपासना करें और बाद में केले का दान करें।

सौजन्य : बी.बी.सी.हिंदी एवं शुभ तिथि

मीन राशि 2018

सकारात्मक पक्ष
मानवीय गुणों से ओत-प्रोत इस राशि के इंसान व्यवहार कुशल, सरल-सौम्य, कोमल हृदय, सात्विक विचारधारा के धनी, सदाचारी, ईमानदार, विनम्र एवं साधु प्रवृत्ति के होते है। बृहस्पति को बुद्धि का अधिपति, गुणवान्, विद्धान, लोक मान्य, सुन्दर वाणी, उदारमना, धीर-गंभीर, सव र्गुण सम्पन्न, सभी शास्त्रों में अधिकार रखनेवाला होता है।

नकारात्मक पक्ष
आत्म-विश्वास की कमी भी स्पष्ट देखी जा सकती है अस्थिर चित्तवृत्ति के कारण इनके सिद्धान्त एवं निर्णय बार-बार बदलते भी रहते हैं।

व्यापार
केतु की नोवी, शनि की दसवी व 02 मार्च से 26 मार्च तक उच्च के शुक्र की सातवी ट्टष्टि बिजनस हाऊस पर होने से कारोबार में कुछ उतार-चढ़ाव आएँगे जिनका आपको डटकर सामना करना होगा। व्यापार में साझेदारी के लिए समय शुभ नहीं है, इसलिए कदम आगे ना बढ़ाएँ। वहीं अगर आप पहले से ही पार्टनरशिप में है तो अच्छे परिणाम की आशा छोड़ दें। नई अर्पोच्यूनिटीज मिलेगी, जिससे वह अपने बिजनस एक्सपैंड कर सकते है।

नौकरी
06 जनवरी से 13 जनवरी तक बुध-शुक्र का लक्ष्मीनारायण योग बना होने से यदि आप बेरोजगार है ताे आपको नौकरी प्राप्ति के स्वर्णिम अवसर प्राप्त होंगे। गवर्नमेंट तथा प्राइवेट सैक्टर के एमप्लॉइज के लिए यह साल सभी एंगल से फेवरेबल कहा जा सकता है। साथ ही यदि आप नौकरी में कार्यरत है तो आपके प्रमोशन के सम्पूर्ण योग बनते है। नौकरी-पेशा के लिए यह वष र् शुभ। आपको अपने बॉस और कलिग्स का पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा और सब जगह आपके काम की प्रशंसा होगी। अक्टूबर के बाद समय बदलेगा, पेशेवर जिन्दगी में कई सुनहरे मौके मिलेंगे, इसलिए उनका फायदा उठाने के लिए पहले से ही तैयार रहें।

वित्त
02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल की धन भाव पर दृष्टि होने से आर्थिक स्तर पर यह साल औसत रहने वाला है। इस साल आपको मुनाफा और नुकसान दोनों होंगे, हालाँकि ऐसा भी नहीं है कि आपकी स्थिति ऐसी ही रहेगी। जल्द ही स्थिति में सुधार होगा और अच्छे परिणाम मिलेंगे। ग्रहों की स्थिति बता रही है कि आपका शानदार आइडिया आपको अपार धन-लाभ कराएगा। पैसे कमाने के लिए आप अपने स्तर पर भी पूरी कोशिश करेंगे और यही समर्पण आपकी आर्थिक स्थिति को सुधारेगा। उम्मीद से ज्यादा लाभ होगा, लेकिन फैसले समझदारी पूर्वक लें।

परिवार एवं सम्बन्ध
02 मार्च से 26 मार्च तक उच्च के शुक्र की ट्टष्टि होने से इस वर्ष आपका गृहस्थ जीवन आनंद के साथ व्यतीत होगा। परिवार में हँसी-खुशी का वातवरण बना रहेगा और परिवार के सदस्य एक-दूसरे को प्यार करेंगे। आपका जीवनसाथी आपके लिए हर मोड़ पर खड़ा रहेगा। आप दोनों के रिश्तों में मधुरता आएगी और आप एक-दूसरे की मदद करेंगे। जीवन में भरपूर रोमांस रहेगा। वैवाहिक जीवन में खुशियाँ-ही-खुशियाँ रहेंगी। आप दूसरों की मदद के लिए हम ेशा आगे रहेंगे, इस वजह से समाज में आपकी इज्जत बढेगी।
इस साल प्रेम-संबंधों में आपको मिले-जुले परिणाम मिलने वाले हैं। इस वर्ष आपको सावधान रहने की जरूरत है, क्योंकि साथी के साथ गलतफहमियाँ हो सकती है। बातचीत के दौरान सतर्क रहें और नाप-तोल कर बोलें, नहीं तो आपके रिश्ते खराब हो सकते हैं। पार्टनर के ऊपर बेकार में शक-संदेह करने से बचें। रिश्तों में पारदर्शिता रखें और एक-दूसरे पर यकीन करें। साथ में समय बिताने की कोशिश करें। फरवरी से मार्च तक और सितम्बर से नवम्बर तक की अवधि में आप दोनों को शारीरिक सुःख प्राप्त होगा।

स्वास्थ्य
02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल की 6जी हाउस पर ट्टष्टि होने से अपने स्वास्थ्य पर इस साल आपको विशेष ध्यान देना होगा। सेहत के मामले में लापरवाही आपको गंभीर मुसीबत में डाल सकती है। कुछ गंभीर बीमारियाँ आपको परेशान कर सकती हैं। काम की अधिकता और आराम ना मिलने की वजह से भी आपकी सेहत कमजोर हो सकती है। हृदय और पेट संब ंधीत परेशानियां बनी रह सकती है। अतः काम के बीच में आराम के लिए समय निकालें और समय पर खाना खाएँ।

विद्यार्थी
देवगुरू बृहस्पति के 8जी हाउस में आने से शिक्षा प्राप्ति में अड़चने आएंगी, परन्तु इसमें लापरवाही ना करें लेकिन रास्ते में रूकावटें देखकर घबराएं नहीं। अतिरिक्त समय निकालकर पढ़ाई अवश्य करें। जिससे बेहतर परिणाम मिलेंगे। अपना ध्यान अपने लक्ष्य पर पूर्ण रूप से केन्द्रित करें सफलता निश्चित रूप से मिलेगी। जरूरत है तो बस मेहनत और लगन की। शुरुआत में आप थोड़े आलसी हो सकते हैं और सोच सकते हैं कि बिना मेहनत किए ही अच्छे अंक मिल जाएँगे। आप कुछ ट्रिक भी अपनाएँगे, लेकिन एक बात सदा याद रखिए कि आपको झोपड़ी नहीं, महल बनाना है और आप भी जानते हैं कि महल बनने में समय लगता है।

कौनसी मित्र राशि और कौनसी शत्रु
मीन राशि वाले लोगां के लिए मीन, वृषभ, मिथुन, कर्क, वृश्चिक, धनु, मकर राशि वालों से लाभ की स्थिति बन सकती है। आप इन से मित्रता, व्यावसायिक सम्बन्ध भागीदारी में व्यापार, एवं उनके साथ इनवेस्ट कर सकते है तथा म ेष, सिंह, कन्या, तुला, कुंभ राशि वाले लोगों से जहां तक संभव हो दूरी बनाए रखें।

कौनसा अंक और रंग है शुभ
मीन राशि के लिए 2, 7, 8, 9 लक्की नम्बर तथा मरून, ऑरेंज, गोल्डन रंग शुभ रहेगा।
विशेष सावधानी बरतने वाला समय
1. सूर्य 14 जनवरी से 12 फरवरी तक केतु के साथ ग्रहण दोष अशुभ।
2. 07 मार्च से 02 मई तक मंगल-शनि का अंगारक दोष।
3. 02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल-केतु का अंगारक दोष।
4. सूर्य 17 अक्टूबर से 16 नवम्बर तक 8जी हाउस में अशुभ।

खुशी के पल
1. 01 जनवरी से 16 जनवरी तक गुरु-मंगल का परिजात योग।
2. 18 सितम्बर से 06 अक्टूबर तक स्वगृही व उच्च के बुध भद्र योग बना रहे है।
3. 01 सितम्बर से 11 अक्टूबर तक गुरू-शुक्र का शंख योग रहेगा।
4. 02 मार्च से 26 मार्च तक उच्च के शुक्र आपकी राशि में मालव्य योग।

सफलता के चमत्कारिक उपाय
बृहस्पति यंत्र को पीले वस्त्र पर चने की दाल अथवा पीली दाल से अष्टदल कमल बनाकर उस पर स्थापित करें, तत्पश्चात् पीले वस्त्र धारण करके हल्दी की माला से ’’ऊँ बृं बृहस्पतये नमः’’ मंत्र के 57 हजार जाप करें। गुरूवार का व्रत, भगवान् विष्णु की उपासना, विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करना/करवाना, पूर्णिमा व्रत, वटवृक्ष की पूजा करना। पीली वस्तु का दान आदि करना हितकर रहेगा।

सफलता का सूत्रः-
मन अगर स्थिर ना हो तो यह भटकाव की श्रेणी में आता है। ऐसे में हमेशा निर्णय-अनिर्णय की स्थिति उत्पन्न होती है। एक बार अगर कोई फैसला कर भी लिया जाए तो उसे बाद में बदला जाता है। जो कि इंसान के आत्म विश्वास में कमी को दर्शाता है। योगा और मेडिटेशन के माध्यम से मन की अस्थिरता को स्थिरता में बदला जा सकता है।

कुंभ राशि 2018

सकारात्मक पक्ष
कुंभ राशि वाले इंसान अपनी धुन के पक्के, जिदद् पर अड़ने पर अपनी बात मनवाकर ही दम लेते हैं। अपने में बौद्धिक क्षमता समेटे हुए रहते हैं। आप ऊपर से भले ही कठोर, जिद्दी, हठी प्रवृत्ति के, राग, द्वेष, वैमनस्य रखने वाले दिखाई देंगे परन्तु अन्दर से उतने ही नरम दिल, संवेदनशील, दार्शनिक विचार रखने वाले, कोमल हृदय के स्वामी होते हैं।

नकारात्मक पक्ष
ऐसे इंसानों की बात स्वीकार ना किये जाने पर शीघ्र ही क्रोधित हो जाते हैं। कभी-कभी तो क्रोध में अपना मानसिक संतुलन खोकर चीखने-चिल्लाने लग जाते हैं परन्तु क्रोध शीघ्र शांत भी हो जाते है। इस राशि वाले इंसान को भोगवादी, सांसारिक मायाजाल में उलझे रहने के पश्चात् भी दार्शनिक विचारों का अद्भुत समावेश देखा जा सकता है।

व्यापार
02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल की दृष्टि होने से बिजनस अच्छा चलने की उम्मीद। आय के नए-नए स्रोत मिलेंगे। नई भागीदारियां बनेगी, जो कि अच्छे परिणाम देगी। अगर आपका खुद का कारोबार है तो इस साल अप्रत्याशित मुनाफा प्राप्त होने वाला है। इस अवधि में आप कारोबार के विस्तार की योजना बना सकते हैं, हालाँकि इसके लिए आपको अच्छे-खासे पैसों की भी जरूरत होगी। अगर आपका व्यवसाय आर्ट, डिजाइनिंग, फैशन, आकि र्टेक्ट और निर्यात से जुड़ा है तो अपार मुनाफा होगा। वहीं जो जातक विदेशी काम से जुड़े हैं उनकी भी कमाई अच्छी होने वाली है। किसी भी दस्तावेज पर हस्ताक्षर करने से पहले उसकी जाँच कर लें।

नौकरी
राहु की दृष्टि होने से अगर आप नौकरीपेशा हैं तो यह साल आपके लिए किसी तोहफे से कम नहीं है। इस अवधि में आप खूब मेहनत करेंगे और सीनियर्स आपक े काम की तारीफ करेंगे। सैलरी में अच्छी वृद्धि के साथ पदोन्नति होगी। इस साल आप सकारात्मक सोच के साथ काम के प्रति पूरी तरह से समर्पित रहेंगे। कार्य-स्थल पर कोई अच्छा पद मिलेगा, हालाँकि ऑफिस में होने वाले विवादों से आपको दूर रहना होगा। इस दौरान आप नई जिम्म ेदारी लेंगे और इससे आपकी योग्यता में वृद्धि होगी। सीनियर्स के साथ संबंध अच्छे बनाकर रखें, क्योंकि छोटे-मोटे विवाद होने की संभावना है। आपके समझदारी पूवर्क लिए गए फैसले सुखःद परिणाम देंगे।

वित्त
07 मार्च से 02 मई तक मंगल की धनभाव पर दृष्टि होने से अगर आपको साल 2018 में पैसे कमाने हैं और आर्थिक स्थिति को मजबूत करना है तो मेहनत करने से पीछे नहीं हटना होगा। कड़ी मेहनत निश्चित तौर पर आपको सुखःद परिणाम देगी। पैसे की आवक अच्छी रहेगी और आपका जीवन आनंदमय रहेगा, लेकिन बेहतर मैनेजमेंट जरूरी है। इस अवधि में आप पुराने कर्ज से उबर जाएँगे। इस समय आपको कईसुनहरे मौके मिलने वाले हैं जिसका फायदा उठाने के लिए आपको तैयार रहना चाहिए।

परिवार एवं सम्बन्ध
केतु की दृष्टि होने से आपका पारिवारिक जीवन पहले से ठीक रहेगा और जिन्दगी अच्छे से व्यतीत होगी। जीवनसाथी का पूरा सहयोग मिलेगा और आप दोनों के रिश्तों में मधुरता आएगी। इस साल नकारात्मक ऊर्जा आपके आसपास भी नजर नहीं आएगी। कभी-कभार परिवार में विवाद जन्म ले सकते हैं, लेकिन आप अपनी समझदारी से इन्हें टाल भी सकते हैं। मार्च से अप्रैल के बीच अपने गुस्से पर कंट्रोल करें। वैवाहिक जीवन में कुछ समय के लिए किसी बात को लेकर तनाव रह सकता है।
इस साल प्यार के मामले में आपको मिले-जुले परिणाम मिलेंगे। इस दौरान कुछ उतार-चढ़ाव का भी सामना करना पड़ सकता है। साल के शुरुआत में कुछ मतभेद हो सकते हैं, इसलिए छोटी-छोटी बातों पर बहस करने से बचें और एक-दूसरे को समझने की कोशिश करें। अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें और बोलने से पहले सोच-विचार लें। किसी भी नतीजे पर पहुँचने से पहले उसके परिणाम के बारे में सोच लें।

स्वास्थ्य
शनि की 8जी हाउस पर दृष्टि होने से इस साल कुम्भ राशि के जातकों की सेहत अच्छी रहने वाली है और किसी प्रकार की कोई गंभीर बीमारी होने की भी संभावना नहीं है, लेकिन इसका ये मतलब कतई नहीं है कि आप लापरवाही करें। दिनचर्या पर ध्यान दें और समय पर खाना खाएँ। अप्रैल मध्य से लेकर सितंबर तक की अवधि में काम की व्यस्तता के कारण नींद में कमी रहेगी और उदर विकार होने की संभावना है। अतः समय पर खाना खाएँ और भरपूर आराम करें।

विद्यार्थी
07 मार्च से 02 मई तक मंगल की दृष्टि होने से कुंभ राशि वालों के लिए शिक्षा के मामले में यह साल सुनहरा रहने वाला है। विद्यार्थियों के जीवन में कई सारे बदलाव होंगे लेकिन इसका मतलब यह नहीं हुआ कि आप मेहनत करना और पढ़ाई करना छोड़ दें। सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता, इसलिए अपने स्तर पर मेहनत करें। कुछ समय के लिए आपके आत्मविश्वास और याददाश्त में कमी हो सकती है। वैसे ऐसी स्थिति ज्यादा दिन तक नहीं रहने वाली है, इसलिए परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है। अपने लक्ष्य पर ध्यान रखें और सही दिशा में प्रयास करें।

कौनसी मित्र राशि और कौनसी शत्रु
कुंभ राशि वाले लोगों के लिए कुंभ, मेष, वृषभ, मिथुन, वृश्चिक, धनु राशि वालों से लाभ की स्थिति बन सकती है। आप इन से मित्रता, व्यावसायिक सम्बन्ध भागीदारी में व्यापार, एवं उनके साथ इनवेस्ट कर सकते है तथा मीन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, मकर राशि वाले लोगों से जहां तक संभव हो दूरी बनाए रखें।

कौन सा अंक और रंग है शुभ
कुंभ राशि के लिए 3, 5, 6, 8 लक्की नम्बर तथा सफेद, हरा, काला रंग शुभ रहेगा।

विशेष सावधानी बरतने वाला समय
1. सूर्य 14 जनवरी से 12 फरवरी तक केतु के साथ ग्रहण दोष में अशुभ।
2. 07 मार्च से 02 मई तक मंगल-शनि का अंगारक दोष।
3. 02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल-केतु का अंगारक दोष।
4. सूर्य 17 सितम्बर से 17 अक्टूबर तक अशुभ।

खुशी के पल
1. 01 जनवरी से 16 जनवरी तक गुरु-मंगल का परिजात योग।
2. 16 जनवरी से 07 मार्च तक स्वगृही मंगल रूचक योग बना रहे है।
3. 01 सितम्बर से 11 अक्टूबर तक गुरू-शुक्र का शंख योग रहेगा।
4. 19 अप्रैल से 14 मई तक स्वगृही शुक्र मालव्य योग।

सफलता के चमत्कारिक उपाय
शनि यंत्र को काले वस्त्र पर साबुत उड़द अथवा उड़द की दाल से अष्टदल कमल बनाकर उस पर स्थापित करें, तत्पश्चात् काले अथवा नीले वस्त्र धारण करके काली माला से ऊँ शं शनैश्चराय नमः मंत्र के 69 हजार जाप करें। शनिवार का व्रत, शनि उपसना/दशरथकृत शनि स्तोत्र का पाठ करना/करवाना। कम्बल, काले तिल, उड़द, नीलम, श्याम धेन, जूते, शमी वृक्ष की पूजा, आक की जड़ के कड़वा तेल सींचना शुभ रहेगा।

नोटः विशेष ध्यान रखने योग्य बात यह है कि शनिवार के दिन शनि की वस्तुएं खरीदकर घर में नहीं लाएं, जैसे- काले वस्त्र, लोहे की वस्तुएं, खाद्य तेल, सरसो का तेल, काले जूते, काले उड़द। जिनके माता-पिता जीवित है, वह छाते का दान नहीं करें।

सफलता का सूत्रः-
आपमें विद्यमान क्रोध आपका सबसे बड़ा दुश्मन है। जिसके चलते ना केवल कार्य सही ढंग से नहीं हो पाता, बल्कि इसमें विलम्ब भी होता है। क्रोध, रिश्ते में दूरियां तथा इनके टूटने का कारण भी बनता है। क्यां नहीं इस नए साल में अपने क्रोध पर विजय प्राप्त करें। जिससे ना केवल जीवन, बल्कि रिश्तों में भी मधुरता घुलेगी।

मकर राशि 2018

सकारात्मक पक्ष
कठोर परिश्रमी, काम से न घबराना, धैर्यपूर्वक अपने लक्ष्य को पाने का प्रयत्न करना, अति-महत्वाकांक्षी, उच्चाभिलाषी, गंभीर आंतरिक शक्ति सम्पन्न, प्रेरणामय तथा उत्तरदायित्वों का निर्वाह करना कोई आपसे सीखें।

नकारात्मक पक्ष
ऐसे इंसान अधिकांशतः नशीली वस्तुओं का सेवन करने वाले, पारिवारिक जीवन के प्रति गैर-जिम्मेदारी की भावना रखने वाले और फैमिली के लिए कष्टकारक साबित होते है।

व्यापार
11 अक्टूबर से गुरू की दृष्टि होने से बड़े-बुजुर्गों और अनुभवी लोगों की सलाह बिजनेस में आपकी सफलता का झंडा गाड़ सकती है। अगर आपका कारोबार लोहा, स्टील, कपड़ा या आयात-निर्यात से जुड़ा है तो आपको अप्रत्याशित मुनाफा होने वाला है। कॅरियर के सिलसिले में की गई यात्राएँ सफल होंगी। बिजनस में लाभ के अत्यंत सुअवसर बन रहे है। जिनका कि आप पूरा-पूरा लाभ उठाएंगे। किसी भी फाईनेंसियल मैटर के पेपर में आंख बंद कर हस्ताक्षर ना करें। आकस्मिक धन लाभ के भी पूर्ण अवसर बन रहे है।

नौकरी
01 सितम्बर से स्वगृही शुक्र मालव्य योग व 11 अक्टूबर तक गुरू के साथ शंख योग बनाए होने से अगर आप नौकरीपेशा हैं तो इस साल आपको नौकरी में लापरवाही से बचना होगा और अपनी क्षमता और योग्यता का सही प्रदर्शन करना होगा। कार्य-स्थल पर होने वाले विवादों से दूर रहने का प्रयास करें, क्योंकि आपके पीठ पीछे आपके विरुद्ध साजिश रची जा सकती है। ऑफिस में तर्क-वितर्क करने से बचें। अन्यथा आपकी नौकरी भी जा सकती है। लोगों से अच्छे संबंध बनाने की कोशिश करें, खासकर मार्च से लेकर मई तक। इस दौरान आपको कोई नया प्रोजेक्ट मिल सकता है जो कि आपके कॅरियर को एक नई ऊँचाई पर ले जा सकता है।

वित्त
16 जनवरी से 07 मार्च तक मंगल की धन भाव पर दृष्टि होने से व्यापार में किसी तरह का रिस्क लेने से बचें और बड़ा निवेश करने से पहले अनुभवी लोगों की सलाह लें और सोच-विचार कर ही पैसे लगाएँ। नई शुरुआत के लिए समय अनुकूल नहीं है। इसके अलावा कर्ज लेने और देने के लिए भी समय अच्छा नहीं है। आपकी जन्म कुण्डली के अनुसार ग्रहों की स्थिति बता रही है कि जमीन-जायदाद से संबंधित परेशानी हो सकती है, हालाँकि साल के अंत तक ये सभी समस्याएँ दूर हो जाएँगी। आय के कुछ नए स्रोत बनेंगे और आपकी परियोजनाएँ इस समय पूरी होंगी।

परिवार एवं सम्बन्ध
केतु की दृष्टि होने से इस साल घरेलू स्तर पर आपको मिला-जुला परिणाम मिलने वाला है। आध्यात्म की ओर आपका झुकाव होगा, लेकिन वैवाहिक जीवन से कुछ समय के लिए दूरी बनने की संभावना है। हालाँकि ऐसी स्थिति कुछ ही दिनों के लिए है। पार्टनर के साथ संबंधों में मधुरता आएगी और उनका सहयोग भी प्राप्त होगा। साथ ही आर्थिक स्तर पर भी पार्टनर की मदद मिलेगी। ऐसे में पार्टनर पर शक-संदेह करने से बचें और अनावश्यक बहस करने से भी परहेज करें। बोलने से पहले अपने शब्दों पर ध्यान दें, कहीं ऐसा ना हो कि जीवनसाथी को आपकी बातों का बुरा लग जाए।
साल 2018 आपके प्रेम-जीवन के लिए तोहफा साबित होने वाला है। शादीशुदा जातकों की जिन्दगी प्यार और रोमांस से भरी रहेगी। पार्टनर के साथ म ुलाकातों का दौर जारी रहेगा। अगर अभी तक आपको आपका प्यार नहीं मिला है तो इस अवधि में आपको प्यार आपको मिल सकता है। प्रपोजल मिलने की पूरी संभावना है।

स्वास्थ्य
07 मार्च से 02 मई तक मंगल की दृष्टि होने से तनाव से उबरने के लिए खुद के लिए समय निकालें और योग करें। पुरानी बीमारी से जूझ रहे जातकों को इस समय आराम मिलेगा। गर्भवती महिलाएँ भी इस समय स्वास्थ्य के मामले में लापरवाही ना करें। काम की अधिकता के चलते अपने स्वास्थ्य को नजरअंदाज नहीं करें। अत्यधित ऑयली और चटपटे खानपान से परहेज करें। स्पेशली फास्टफूड और जंकफूड के सेवन से बचें। अन्यथा डॉक्टर से मुलाकात संभव हो सकती है।

विद्यार्थी
11 अक्टूबर से केतु की और गुरू पर दृष्टि होने से एग्जाम्स की तैयारी में लगे लोगों के लिए यह साल एक वरदान के रूप में आया है। पूरी सिंसीयरिटी से जो भी तैयारी करेगा, यह साल सुखद परिणाम उनकी झोली में डालेगा। इस अवधि में आप नई चीजों को सीखने और पढ़ाई के प्रति काफी गंभीर रहेंगे। इस दौरान आपके कौशल में वृद्धि होगी। यह साल उन विद्यार्थियों के लिए भी अच्छा है जो उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाना चाहते हैं। इस अवधि में आपको मनचाहे कॉलेज में दाखिला भी मिलेगा। वहीं दूसरी ओर मकर राशि के कुछ जातकों को एकाग्रता में कमी महसूस हो सकती है, लेकिन अपने दृढ़ संकल्प के कारण बेहतर रिजल्ट प्राप्त करने में सफल रहेंगे।
कौनसी मित्र राशि और कौनसी शत्रु
मकर राशि वाले लोगां के लिए मकर, मीन, मेष, वृषभ, कन्या, तुला राशि वालों से लाभ की स्थिति बन सकती है। आप इन से मित्रता, व्यावसायिक सम्बन्ध भागीदारी में व्यापार, एवं उनके साथ इनवेस्ट कर सकते है तथा कुंभ, मिथुन, कर्क, सिंह, वृश्चिक, धनु राशि वाले लोगों से जहां तक संभव हो दूरी बनाए रखें।

कौन सा अंक और रंग है शुभ
मकर राशि के लिए 1, 2, 5, 7 लक्की नम्बर तथा काला, सफेद, हरा रंग शुभ रहेगा।

विशेष सावधानी बरतने वाला समय
1. सूर्य 14 जनवरी से 12 फरवरी तक केतु के साथ ग्रहण दोष आपकी राशि में अशुभ।
2. 07 मार्च से 02 मई तक मंगल-शनि का अंगारक दोष।
3. 02 मई से 06 नवम्बर तक आपकी राशि में मंगल-केतु का अंगारक दोष।
4. सूर्य 17 अगस्त से 17 सितम्बर तक अशुभ।

खुशी के पल
1. 01 जनवरी से 16 जनवरी तक गुरु-मंगल का परिजात योग।
2. 02 मई से 06 नवम्बर तक आपकी राशि में मंगल उच्च के रूचक योग बना रहे है।
3. 10जी हाउस में गुरू-शुक्र का शंख योग 01 सितम्बर से 11 अक्टूबर तक रहेगा।
4. 01 सितम्बर से 31 दिसम्बर तक उच्च के शुक्र, मालव्य योग।

सफलता के चमत्कारिक उपाय
शनि यंत्र को काले वस्त्र पर साबुत उड़द अथवा उड़द की दाल से अष्टदल कमल बनाकर उस पर स्थापित करें, तत्पश्चात् काले अथवा नीले वस्त्र धारण कर के काली माला से ऊँ प्रां प्रीं प्रौं सः शनये नमः मंत्र के 69 हजार जाप करें। शनिवार का व्रत, शनि उपसना/दशरथकृत शनि स्तोत्र का पाठ करना/करवाना। काले तिल, छाता, जूते, लोहे के पात्र, काले वस्त्र, कम्बल आदि का दान करना हितकर रहेगा।

नोटः विशेष ध्यान रखने योग्य बात यह है कि जिनके माता-पिता जीवित है, वह छाते का दान नहीं करें।

सफलता का सूत्र
कड़ी से कड़ी मिलकर चेन बनती है। ठीक उसी प्रकार परिवार के सभी सदस्यों के मध्य एकता तथा जिम्मेदारी का एहसास हो तो बड़ी से बड़ी समस्या से लड़ा जा सकता है। इस नए साल में यह प्रण लीजिए, गत वर्ष की अपेक्षा और अधिक जिम्मेदारी उठाएंगे।

धनु राशि 2018

सकारात्मक पक्ष
इस राशि के इंसान स्वभाव से बहुत ही भले, सज्जन, कोमल हृदय, ईमानदार, कृपालु, दयालु, दीन-दुखियों पर मेहरबान रहने वाले, सद्चरित्रवान, परोपकार की भावना रखने वाले होते हैं। किसी बात को सुगमता से शीघ्र समझने की अद्भुत शक्ति, अपने वंश और जाति में अधिकांशतः प्रसन्नचित होते हैं।

नकारात्मक पक्ष
ऐसे राशि वालों में कुछ हद तक अभिमान भाव भी विद्यमान रहता है जो उनका महान शत्रु सिद्ध होता है। यह अभिमान उन्हें अपनी गलती को स्वीकार नहीं करने देता। शंकालु प्रवृत्ति भी अधिकाधिक देखी जा सकती है।

व्यापार
7 मार्च से 2 मई तक मंगल की दृष्टि होने से नए कारोबार में निवेश करना फायदे का सौदा होगा। कारोबार में पिता का सहयोग आपके लिए वरदान साबित होगा। नए घर या वाहन खरीदने का योग बन रहा है। स्टॉक मार्केट में पैसे लगाना आपके लिए हितकर होगा और आपको इससे मुनाफा होगा, लेकिन आपको सलाह दी जाती है कि आर्थिक मामलों में सावधानी बरतें और पैसों से संबंधित कागजात को संभालकर रखें। किसी के ऊपर आँख बंद करके विश्वास ना करें, वरना आप धोखाधड़ी के शिकार हो सकते हैं।

नौकरी
केतु की दृष्टि होने से अगर आप नौकरी बदलने की योजना बना रहे हैं तो इसके लिए समय अनुकूल है। आपको सकारात्मक परिणाम मिलेंगे। अच्छी सैलरी और पदोन्नति की पूरी संभावना है। साथ ही कार्य-स्थल पर आपके काम की सराहना होगी। अगर आप नौकरीपेशा हैं तो इस साल आपको नौकरी में लापरवाही से बचना होगा और अपनी क्षमता और योग्यता का सही प्रदर्शन करना होगा। कार्य-स्थल पर होने वाले विवादों से दूर रहने का प्रयास करें, क्योंकि आपके पीठ पीछे आपके विरुद्ध साजिश रची जा सकती है। ऑफिस में तर्क-वितर्क करने से बचें। अन्यथा आपकी नौकरी भी जा सकती है। लोगों से अच्छे संबंध बनाने की कोशिश करें, खासकर मार्च से लेकर मई तक।

वित्त
काम के सिलसिले में यात्राएँ करनी पड़ सकती है। ग्रहों की स्थिति बता रही है कि आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए आपको मेहनत करनी होगी और आप इसमें सफल भी रहेंगे। इसके अलावा आप पार्टनर के लिए हीरे की ज्वेलरी खरीदेंगे। वहीं दूसरी ओर मई महीने में आपके खर्चों में भी वृद्धि होगी, इसलिए अनावश्यक खर्चों पर लगाम लगाएँ और समझदारी पूर्वक निवेश करें। कुल मिलाकर इस साल आपको आर्थिक संकट से जूझना नहीं पड़ेगा।

व्यापार
सितारों की चाल का कहना है कि, पारिवारिक जीवन के लिहाज से साल 2018 धनु राशि वालों के लिए अच्छा रहने वाला है। परिवार में हँसी-खुशी का माहौल बना रहेगा। परिवार के सदस्य एक-दूसरे को प्यार करेंगे। परिवार के सदस्यों के साथ आपके संबंध अच्छे रहेंगे। साथ ही परिवार के जिम्मेदार व्यक्ति होने के कारण आपको सभी लोगों की मदद करनी चाहिए और उनके साथ हर मोड़ पर खड़े रहना चाहिए। वहीं दूसरी ओर कामदबाव अधिक होने के कारण आप थोड़े आक्रामक हो सकते हैं जिससे कि आपको बचना चाहिए, क्योंकि इससे आपके रिश्ते खराब हो सकते हैं।

स्वास्थ्य
केतु की दृष्टि होने से स्वास्थ्य के मामले में इस साल आपको सावधान रहने की सलाह दी जाती है, क्योंकि मार्च से मई 2018 तक सेहत खराब होने की संभावना नजर आ रही है। पेट और आँखों में परेशानी के साथ-साथ अनिद्रा की बीमारी हो सकती है। साथ ही हाई-ब्लडप्रेशर के कारण भी दिक्कतें हो सकती है, इसलिए गुस्सा करने और आक्रामक होने से बचें। अक्टूबर के बाद काम की अधिकता रहेगी। ऐसे में आराम के लिए समय निकालना भी आपके लिए जरूरी होगा, नहीं तो सेहत नाजुक हो सकती है। वैसे भी आप भी जानते हैं कि स्वास्थ्य से बड़ा कोई धन नहीं है। साथ ही खानपान पर भी ध्यान दें। बाजार की वस्तुएँ और जंक फूड खाने से बचें। खूब पानी पिएँ।

विद्यार्थी
02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल की दृष्टि होने से स्टूडेंट्स के लिए यह साल सम्पूर्ण इच्छा प्राप्ति वाला कहें तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। कड़ी मेहनत के साथ उच्च शिक्षार्थी अच्छे परिणाम प्राप्त करेंगे। प्रदर्शन काबिल-ए-तारीफ होगा। साथ ही यह समय प्रतियोगी परीक्षा में शामिल होने के लिए बहुत ही उपयुक्त है। सुखःद परिणाम मिलने की पूरी संभावना है। इस अवधि में माता-पिता और शिक्षकों का पूरा सहयोग मिलेगा जो कि आपकी सफलता में काफी मददगार साबित होगा। इस दौरान आपको खुद को किसी से प्रेरित महसूस करेंगे और पाएँगे कि आपकी सभी ख्वाहिशें पूरी हो रही हैं। साल 2018 की भविष्यवाणी के अनुसार यह साल बैंकिंग, मैनेजमेंट, इंजीनियरिंग और कला की पढ़ाई के लिए बहुत ही उपयुक्त है। कुल मिलाकर इस साल आपकी सफलता आपकी मेहनत और पॉजिटिव रवैये पर निर्भर करती है।

कौनसी मित्र राशि और कौनसी शत्रु
बृहस्पति यंत्र को पीले वस्त्र पर चने की दाल अथवा पीली दाल से अष्टदल कमल बनाकर उस पर स्थापित करें, तत्पश्चात् पीले वस्त्र धारण करके हल्दी की माला से ऊँ ग्रां ग्रीं ग्रौं सः गुरवे नमः मंत्र के 57 हजार जाप करें। गुरूवार का व्रत, भगवान् विष्णु की उपासना, विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करना/करवाना। तुलसी पूजा, केले के पेड़ की पूजा करना, पूर्णिमा व्रत करना। पीली वस्तु का दान, ब्राह्मणों को भोजन करवाना, विद्या दान, गौ-दान आदि करना हितकर रहेगा।

कौन सा अंक और रंग है शुभ
धनु राशि के लिए 1, 2, 4, 7 लक्की नम्बर तथा मरून, संतरी, सुनहला रंग शुभ रहेगा।

विशेष सावधानी बरतने वाला समय
1. सूर्य 14 जनवरी से 12 फरवरी तक केतु के साथ ग्रहण दोष अशुभ।
2. 07 मार्च से 02 मई तक आपकी राशि में मंगल-शनि का अंगारक दोष।
3. 02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल-केतु का अंगारक दोष।
4. सूर्य 16 जुलाई से 17 अगस्त तक अशुभ।

खुशी के पल
1. 01 जनवरी से 16 जनवरी तक गुरु-मंगल का परिजात योग।
2. 18 सितम्बर से 06 अक्टूबर तक बुध उच्च के भद्र योग बना रहे है।
3. 11जी हाउस में गुरू-शुक्र का शंख योग 01 सितम्बर से 11 अक्टूबर तक रहेगा।
4. 02 मार्च से 26 मार्च तक उच्च के शुक्र, मालव्य योग।

सफलता के चमत्कारिक उपाय
बृहस्पति यंत्र को पीले वस्त्र पर चने की दाल अथवा पीली दाल से अष्टदल कमल बनाकर उस पर स्थापित करें, तत्पश्चात् पीले वस्त्र धारण करके हल्दी की माला से ’’ऊँ बृं बृहस्पतये नमः’’ मंत्र के 57 हजार जाप करें। गुरूवार का व्रत, भगवान् विष्णु की उपासना, विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करना/करवाना, पूर्णिमा व्रत, वटवृक्ष की पूजा करना। पीली वस्तु का दान आदि करना हितकर रहेगा।

सफलता का सूत्र
स्वाभिमानी होना एक अच्छी बात है, लेकिन स्वाभिमान और अभिमान के मध्य बहुत पतली लाइन होती है। जब यह पार हो जाती है तो अभिमान का रूप धारण कर लेती है। अभिमान इंसान के पतन का कारण होता है। इस नए साल में अपनी इस बुरी आदत को त्यागने का गंभीर प्रयास करें।

वृश्चिक राशि 2018

सकारात्मक पक्ष
इस राशि के इंसान अत्यन्त साहसी, उत्साही, उद्धत, पराक्रमी एवं उद्यमी होते हैं। अपनी इच्छाभिलाषाओं एवं महत्वाकांक्षाओं को पूर्ण करने के लिए अथक प्रयास करते देखे जा सकते हैं। साहसिक कार्यों में गहरी रुचि रखते हैं इस कारण इस राशि के लोग पुलिस, आर्मी, सेना, अग्निशमन जैसे कार्यों से जुड़ना पसन्द करते हैं।

नकारात्मक पक्ष
दूसरों की त्रुटियां निकालने में बहुत ही सिद्धहस्त होते हैं। इनकी आलोचना इतनी तक र्संगत होती है कि सामान्यतयाः कोई भी व्यक्ति प्रतिवाद करने का साहस नहीं कर पाता।

व्यापार
16 जनवरी से 07 मार्च तक मंगल की बिजनस हाउस में दृष्टि होने से व्यापार के प्रमोशन के सिलसिले में दूर की यात्रा का योग बन रहा है। कुछ दिक्कतों को एक किनारे रख दें तो यह साल आपके लिए ठीक ही रहने वाला है। अगर आप व्यापार में निवेश करने की सोच रहे हैं तो यह समय इसके लिए उपयुक्त नहीं है। अतः निवेश करने का प्लान कुछ समय के लिए त्याग दें। यदि आपका कारोबार इस्पात, स्टील, ब्यूटी, स्पा, कपड़ों और आयात-निर्यात का है तो इस साल आपको बेहतर लाभ प्राप्त होगा। कम शब्दों में ज्यादा कहें तो इस साल आपकी सफलता आपकी मेहनत पर निर्भर करती है।

नौकरी
कार्य स्थान में कई चुनौतियों से दो-चार होना पड़ सकता है। संयम और सहनशीलता ही इस समय की माँग है। उसे समझे और क्रियान्वित करें। कार्य-स्थल पर मेहनत का फल मिलेगा, हालाँकि आपके कुछ साथी आपसे ईर्ष्या कर सकते हैं। अतः आपके लिए जरूरी है कि आप ऑफिस के कानाफूसी पर ध्यान देने के बजाय अपने काम पर ध्यान दें। साथ ही अपने आस-पास के लोगों पर भी नजर रखें।

वित्त
16 जनवरी से 07 मार्च तक धनभाव पापकर्त्तरी दोष में होने से आपको धन के मामले में बहुत ही ज्यादा सतक र् रहना होगा। कुछ भी शुरू करने से पहले अपने बैंक बैंलेंस पर नजर डालें। पर्याप्त धन होने पर ही नए काम शुरू करें। साथ ही अनावश्यक खर्च पर भी लगाम लगाएं। जल्दबाजी में आर्थिक फैसले ना लें, क्योंकि आर्थिक नुकसान की संभावना बहुत ही ज्यादा है। फालतू के खर्च से आप मुसीबत में पड़ सकते हैं।

परिवार एवं सम्बन्ध
11 अक्टूबर से गुरू की दृष्टि से गृहस्थ जीवन आपके अनुरूप रहने वाला है। इस दौरान घर-परिवार से आपको दिल खुश करने वाले संदेश भी प्राप्त होंगे। वैवाहिक जीवन सुचारू रूप से चलेगा और आप अपने परिवार के साथ कुछ यादगार पल बिताएंगे। इस समय साथी का पूरा सहयोग आपको प्राप्त होगा जो कि आपके लिए निजी और पेशेवर जिन्दगी के लिए फायदेमंद होगा, हालाकि पार्टनर से बातचीत के दौरान इस बात का ख्याल रखें कि आपकी बातों से उन्हें किसी प्रकार का बुरा ना लग जाए। माताजी की सेहत की देखभाल जरूरी होगा।

वैवाहिक जीवन में खुशियों की बारिश होगी। आप दोनों एक-दूसरे को उपहार देंगे। दिन-प्रतिदिन आपके रिश्तों में मिठास आएगी। वैवाहिक लोगों के विवाहेत्तर संबंध भी बन सकते हैं, लेकिन इन सबसे जितना दूर रहें वही आपके लिए अच्छा होगा। वहीं कुँवारे जातकों को विवाह का प्रस्ताव मिल सकता है।

स्वास्थ्य
02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल की दृष्टि होने से बेहतर स्वास्थ्य के लिए आपको नियमित रूप से व्यायाम करना होगा। लापरवाही और व्यस्तता के कारण सेहत से संबंधी कोई गंभीर समस्या हो सकती है। खराब खान-पान की वजह से भी सेहत नाजुक रह सकती है। तीखे और मसालेदार चीजों से दूर रहें। साल 2018 में आपको जोड़ों में दर्द, आँखों में दिक्कत और पेट में संक्रमण के कारण समस्या हो सकती है। जनवरी से मार्च तक की अवधि में आपको विशेष सावधान रहने की जरूरत है।

विद्यार्थी
11 अक्टूबर से गुरू की दृष्टि होने से विद्यार्थियों के लिए किसी तोहफे से कम नहीं है, खासकर उन लोगों के लिए जो उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाना चाहते हैं। इस दौरान शिक्षा से जुड़ी आपकी सभी मुरादें पूरी होंगी। कंप्टीशन की तैयारी कर रहे छात्रों को सफलता मिलेगी। वहीं जो छात्र परीक्षा परिणाम का इंतजार कर रहे हैं, वे अच्छे अंक से पास होंगे। यह साल बैंकिंग और इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए बहुत ही उपयुक्त है। आप में से कुछ जातकों को मनचाहे कॉलेज में दाखिला मिलेगा।

कौन सी मित्र राशि और कौनसी शत्रु
वृश्चिक राशि वाले लोगां के लिए वृश्चिक, मकर, कुंभ, मीन, सिंह, कन्या वालों से लाभ की स्थिति बन सकती है। आप इन से मित्रता, व्यावसायिक सम्बन्ध भागीदारी में व्यापार, एवं उनके साथ इनवेस्ट कर सकते है तथा धनु, मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, तुला राशि वाले लोगों से जहां तक संभव हो दूरी बनाए रखें।

कौन सा अंक और रंग है शुभ
वृश्चिक राशि के लिए 2, 4, 5, 7 लक्की नम्बर तथा हरा, काला, सफेद रंग शुभ रहेगा।

विशेष सावधानी बरतने वाला समय
1. सूर्य 14 जनवरी से 12 फरवरी तक केतु के साथ ग्रहण दोष अशुभ।
2. 07 मार्च से 02 मई तक मंगल-शनि का अंगारक दोष।
3. 02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल-केतु का अंगारक दोष।
4. सूर्य 16 जून से 16 जुलाई तक अशुभ।

खुशी के पल
1. 01 जनवरी से 16 जनवरी तक गुरु-मंगल का परिजात योग।
2. 16 जनवरी से 07 मार्च तक आपकी राशि में स्वगृही मंगल रूचक योग बना रहे है।
3. 12जी हाउस में गुरू-शुक्र का शंख योग 01 सितम्बर से 11 अक्टूबर तक रहेगा।

सफलता के चमत्कारिक उपाय
मंगल यंत्र को लाल वस्त्र पर लाल मसूर की दाल से अष्टदल कमल बनाकर उस पर स्थापित करें, तत्पश्चात् लाल वस्त्र धारण करके मूंगे की माला से ऊँ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः मंत्र के 40 हजार जाप करें। मंगल यंत्र की विधिवत् पूजा एवं गोमती चक्र लाल वस्त्र में मंगलवार के दिन जेब में रखें। मंगलवार का व्रत, हनुमान उपासना, सुन्दरकाण्ड, हनुमान अष्टक पाठ, मंगल चण्डिका स्तोत्र का पाठ करना लाभप्रद रहेगा। लाल
वस्त्र में मसूर की दाल दान करें।

सफलता का सूत्र
माना इंसान गलतियों को पुतला है, लेकिन श्रेष्ठ इंसान किसी भी एक भूल को दोहराते नहीं है। तभी वो श्रेष्ठ कहलाते है। आप भी इस आदत का शुमार अपने जीवन में करें तो सफलता आपके कदम अवश्य चूमेगी। हर समय स्वयं खुशियां बटोरें एवं अन्य लोगों में भी इसे बांटने का प्रयास करें।

तुला राशि 2018

सकारात्मक पक्ष
उच्च रहन-सहन, बाहरी दिखावा, ऊपरी तड़क-भड़क, अत्यधिक सफाई पसंद, इस राशि से जुड़े इंसान सफाई पर विशेष ध्यान देते है। अपने वस्त्रों तथा घर को आधुनिक ढंग से बनाने में इस राशि के इंसानों में विशेष अभिरुचि होती है।

नकारात्मक पक्ष
इनमें आलस्य की प्रवृत्ति होने के कारण ये आज का काम कल पर टालते हुए देखे जा सकते है। इसी आलस्य के चलते कार्यां के प्रति उतने गंभीर नहीं होते हैं। ऐसी स्थिति इनकी प्रगति में बाधक सिद्ध होती है।

व्यापार
02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल की चौथी व 11 अक्टूबर तक गुरू की सातवीं दृष्टि होने से अगर आप व्यवसाय करते हैं तो यह साल आपको प्रत्याशित मुनाफा देने वाला साबित होगा। आपके कॅरियर में कई अहम् बदलाव होंगे और पैसों की आवक अच्छी रहेगी। सच्ची लगन की बदौलत आप बेहतर परिणाम प्राप्त करने में सफल रहेंगे। इस साल आय के कई नए स्तोत्र सामने आंएगे। साथ ही विदेश की यात्रा भी सफल रहेगी। कला, अभिनय, डिजाइनिंग, फैशन, आकि र्टेक्ट (वास्तुकार), प्रिटिंग, मीडिया और कॉस्मेटिक से जुड़े कारोबार में बेहतर लाभ प्राप्त होगा।

नौकरी
16 अक्टूबर से गुरू की क्रम भाव पर दृष्टि होने से पदौन्नति के रूप में आपकी मेहनत का फल मिलेगा। सैलरी में भी वृद्धि हो सकती है। सीनियर की तारीफ मिलेगी और वे काम में आपकी मदद् भी करेंगे। बेहद ही कम समय में हुई आपकी प्रगति से आपके सहकर्मी आश्चर्यचकित हो सकते हैं। आपकी सफलता से आपके साथ काम करने वाले लोग ईष्या भी कर सकते हैं, लेकिन आपका ध्यान सिर्फ और सिर्फ आपके काम पर होना चाहिए। अपनी वाणी पर ध्यान रखें, क्योंकि विवाद होने की भारी संभावना है। इस विवाद की वजह से कार्यस्थल का माहौल भी खराब हो सकता है।

वित्त
2 मई से 6 नवम्बर तक मंगल की लाभ भाव पर दृष्टि होने से इस साल तुला राशि के जातकों के पास पैसों  की कमी नहीं रहने वाली है। दूसरे शब्दों में कहे तो पैसों के कारण कोई काम नहीं रुकेगा। आर्थिक मामलों में आप कुछ सकारात्मक बदलाव करेंगे। इस दौरान आप अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने के लिए कड़ी मेहनत भी करेंगे। इस अवधि में आप पुराने कर्ज से भी ऊबर जाएँगे। जनवरी से मार्च तक की अवधि में आपकी कमाई में अप्रत्याशित वृद्धि देखी जाएगी।

परिवार एवं सम्बन्ध
शनि की तीसरी दृष्टि होने से यह मिला-जुला रहने वाला है। साल की शुरुआत आप जोश और उत्साह से भरे रहेंगे। साथ ही इस दौरान सकारात्मक ऊर्जा से आप लबरेज रहेंगे, हालाँकि चीजें आपका मनमाफिक नहीं होंगी। दूसरे शब्दों में कहें तो आप जैसा चाहेंगे वैसा नहीं होगा। आपके लिए जरूरी है कि अपने क्रोध पर काबू रखें और बोलने से पहले शब्दों को तोल-मोल कर बोलें। अगर आप वैवाहिक और गृहस्थ जीवन का वाकई आनंद लेना चाहते हैं तो कहासुनी से बचें।
साल 2018 की शुरुआत में आपको प्यार के मामले में कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, कहीं ऐसा ना हो कि पार्टनर को आपकी बातों का बुरा लग जाएं और वे नाराज हो जाएं। परिस्थितियों को बेहतर बनाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। इस साल आपको वही मिलेगा जिसे आप सच्चे दिल से चाहते हैं। मार्च महीने के बाद साथी के साथ आप कुछ यादगार लम्हें गुजारेंगे। शादीशुदा जातकों के लिए यह साल सुखःद रहने वाला है। वैवाहिक लोगों को संतान सुख की प्राप्ति होगी। वहीं जो लोग अभी तक कुँवारे हैं और शादी करना चाहते हैं तो उनके भी हाथ पीले होंगे।

स्वास्थ्य
7 मार्च से 2 मई तक मंगल की दृष्टि होने से तुला राशि के लिए सेहत की बात करें तो आपको थोड़ा सतर्क रहना होगा। सेहत के प्रति लापरवाही आपके लिए घातक हो सकती है। खान-पान की आदतों पर विशेष ध्यान देना होगा। तेल-मसाला और मिर्च युक्त खाने की वस्तुओं के सेवन से परहेज करें, नहीं तो पेट संबंधी परेशानी हो सकती है। नियमित रूप से व्यायाम करना आपके लिए अच्छा रहेगा। काम से आराम के लिए समय निकालना भी एक समझदारी भरा फैसला होगा, क्योंकि काम की अधिकता के कारण आपको थकान हो सकती है। इस समय आपको क्रोध का भी त्याग करना होगा।

विद्यार्थी
16 जनवरी से 7 मार्च तक मंगल की चौथी दृष्टि होने से शिक्षा की बात करें तो यह चुनौतियों से भरा है। बेहतर परिणाम के लिए आपको कड़ी मेहनत करने की दरकार होगी। साल की शुरुआत में आपका ध्यान लक्ष्य से भटक सकता है। साथ ही एकाग्रता की कमी का असर आपके प्रदर्शन पर भी पड़ेगा। ऐसे में आप हतोत्साहित भी हो सकते हैं, लेकिन आपको इससे बचना होगा और अपना ध्यान अपने लक्ष्य पर केंद्रित करना होगा। ऐसे समय में आपको शांतचित् से काम लेना होगा और सर्व-शक्तिमान भगवान पर भरोसा रखना है। पढ़ाई में ध्यान और एकाग्रता बनाए रखने में गायत्री मंत्र के जप से आपको मदद मिलेगी।

कौनसी मित्र राशि और कौनसी शत्रु
तुला राशि वाले लोगां के लिए तुला, धनु, मकर, कुंभ, मिथुन, कर्क राशि वालों से लाभ की स्थिति बन सकती है। आप इन से मित्रता, व्यावसायिक सम्बन्ध भागीदारी में व्यापार, एवं उनके साथ इनवेस्ट कर सकते है तथा वृश्चिक, मीन, मेष, वृषभ, सिंह, कन्या राशि वाले लोगों से जहां तक संभव हो दूरी बनाए रखें।

कौनसा अंक और रंग है शुभ
तुला राशि के लिए 3, 5, 6, 8 लक्की नम्बर तथा हरा, काला, सफेद रंग शुभ रहेगा।

विशेष सावधानी बरतने वाला समय
1. सूर्य 14 जनवरी से 12 फरवरी तक केतु के साथ ग्रहण दोष अशुभ।
2. 07 मार्च से 02 मई तक 3तक हाउस में मंगल-शनि का अंगारक दोष।
3. 02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल-केतु का अंगारक दोष।
4. सूर्य 14 मई से 15 जून तक अशुभ।

खुशी के पल
1. 01 जनवरी से 16 जनवरी तक गुरु-मंगल का परिजात योग।
2. आपकी राशि में गुरू-शुक्र का शंख योग 01 सितम्बर से 11 अक्टूबर तक रहेगा।
3. 01 सितम्बर से 31 दिसम्बर तक आपकी राशि में स्वगृही शुक्र मालव्य योग।

सफलता के चमत्कारिक उपाय
सफेद चंदन की माला से ऊँ शुं शुक्राय नमः मंत्र के 64 हजार जाप करें। शुक्रवार का व्रत, दुर्गा सप्तसती का पाठ करना, दोनों नवरात्रा तथा गुप्त नवरात्रा में व्रतादि करना। शुक्र यंत्र की विधिवत् पूजा एवं सफेद वस्त्र में सफेद पुष्प लेकर अपनी कुलदेवी को अर्पण करें। सफेद वस्तु, चावल, दूध, दही, घृत का दानादि करना शुभ रहेगा।

सफलता का सूत्र
यह 21वीं सदी का युग है। इसमें कल का काम आज, आज का काम अभी करने की मन में प्रवृत्ति का होना अत्यंत आवश्यक है। तभी आप दूसरों से आगे हो पाएंगे। अपने अंदर की विद्यमान, आज का काम कल पर डालने वाली प्रवृत्ति से बाहर निकलने का समय मानों आ गया है, साल 2018 में अपनी इस बुरी आदत को हमेशा-हमेशा के लिए समाप्त करने का गंभीर प्रयास करें, सफलता अवश्य मिलेगी

कन्या राशि 2018

सकारात्मक पक्ष
बुद्धि चातुर्य के अधिपति बुध कन्या राशि के स्वामी वाले लोग श्रेष्ठ स्मरण शक्ति, मेधावी, कुशाग्र बुद्धि, किसी विषय की कठिनता को शीघ्र हल करने की अद्भुत क्षमता होती है। मृदु एवं मधुर भाषी, व्यवहार कुशल, समानता का व्यवहार रखने वाले, धीर-गंभीर, कष्ट, सहिष्णु, उच्च कोटि के विद्वान, लेखक, कवि अथवा अधिवक्ता होते हैं।

नकारात्मक पक्ष
सूर्य के अधिक निकट रहने के पश्चात् भी उनके समान तेजस्विता दृश्यमान नहीं होती बल्कि कन्या राशि वाले इंसान डरपोक प्रवृति के होते है।

व्यापार
11 अक्टूबर के बाद गुरू की बिजनस हाउस पर दृष्टि होने से बिजनस विस्तार के लिए दूर की यात्रा के योग बन रहे है। अगर आप नया बिजनस शुरू करना चाहते है तो कर सकते है, क्योंकि बिजनस के लिहाजा समय अनुकूल है। व्यवसायिक गतिविधियां आपके लिए अच्छी बनी रहेगी। लाभ के सौदे हाथ लगेंगे। प्रतिष्ठान में ग्राहकों के साथ आवाजाही बनी रहेगी। अनेकानेक माध्यमों से धनागमन होगा। आपको व्यावसायिक
यात्राएं अधिक से अधिक करनी पड़ सकती है।

नौकरी
बुध 17 जून से 25 जून तक क्रम भाव विराजित होने से कार्यस्थल पर आपका कौशल और हुनर देखने को मिलेगा। वे जातक जिनका इस साल नौकरी बदलने का मन है उन्हें भी इस साल सफलता मिल सकती है। अगर आप सरकारी नौकरी करते हैं तो अच्छी सैलरी के साथ उच्च पद भी मिलने वाला है। में रहेंगे इसलिए सरकारी नौकरी अथवा निजी क्षेत्र में कामकाजी महिलाओं के प्रोमोशन के अवसर हाथ लगेंगे।

वित्त
11 अक्टूबर के बाद गुरू की लाभ भाव पर दृष्टि होने से इस साल आपकी आय में वृद्धि होगी। थोडे़ से प्रयासों में काम बनते नजर आएंगे। रूपये-पैसों की आवक अच्छी बने रहने से तथा आर्थिक सुदृढ़ता के कारण आप जरा भी विचलित नहीं होंगे। कुछ मिलाकर आर्थिक स्थिति के लिए यह फायदेमंद सिद्ध होगा।

परिवार एवं सम्बन्ध
2 मार्च से 26 मार्च तक शुक्र उच्च के होकर मालव्य योग बनाये होने से गृहस्थ जीवन औसत रहने वाला है। काम की अधिकता के कारण आप परिवार को समय नहीं दे पाएंगे। परिवार में बडे़-बुजुर्गों एवं जीवनसाथी का पूर्ण सहयोग भरपूर बना रहेगा। जिसके चलते हर विपरीत परिस्थिति में बड़ी आसानी से आप बाहर निकल पाएंगे। शुभ एवं मांगलिक कार्य पर खर्चा होगा। किसी भी मुद्दे पर फैमिली मैम्बर के संग वाद-विवाद से बचें। कुल मिलाकर पारिवारिक स्तर पर यह साल काफी अच्छा कहा जा सकता है।
प्रेम सम्बन्धी मामलों में यह साल आपके लिए काफी शुभ रहने वाला है। आप अविवाहित है तो विवाह बंधन में बंध सकते है तथा मातृत्व सुख की प्राप्ति भी संभव हो सकती है। अप्रैल माह के बाद पार्टनर के साथ कई रोमांटिक डेट पर जाने के योग बन रहे है। लिव-इन वाले रिलेशन आगे बढ़ा सकते है।

स्वास्थ्य
शनि की तीसरी से स्वास्थ्य के मामले में सचेत रहने की आवश्यकता है। कोई पुराना रोग आपको परेशान कर सकता है। खराब दिनचर्या के कारण स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याएं हो सकती है। चोट लगना, इनडायजेशन, नींद की कमी इत्यादि के चलते हैल्थ पर बुरा प्रभाव पड़ेगा। इसलिए आप अपनी सेहत के प्रति सावधान रहें। डॉक्टरी सलाह एवं औषधि का सेवन समयानुसार करते रहें।

विद्यार्थी
02 मई से 06 नवम्बर तक 5जी हाउस में मंगल केतु का अंगारक दोष बना होने से इस साल विद्यार्थियों को कड़ी मेहनत की आवश्यकता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिलने के पूरे-पूरे चांसेस। करियर तथा जॉब के मार्ग खुल जाएंगे। धैर्य बनाए रखें एवं लक्ष्य पर फोकस करें। कौनसी मित्र राशि और कौनसी शत्रु कन्या राशि वाले लोगां के लिए कन्या, वृश्चिक, धनु, मकर, वृषभ, मिथुन, कर्क राशि वालों से लाभ की स्थिति बन सकती है। आप इन से मित्रता, व्यावसायिक संबंध भागीदारी में व्यापार, एवं उनके साथ इनवेस्ट कर सकते है तथा तुला, कुंभ, मीन, मेष, सिंह राशि वाले लोगों से जहां तक संभव हो दूरी बनाए रखें।

कौनसा अंक और रंग है शुभ
कन्या राशि के लिए 1, 4, 5, 7 लक्की नम्बर तथा हरा, सफेद, स्लेटी रंग शुभ रहेगा।

विशेष सावधानी बरतने वाला समय
1. सूर्य 14 जनवरी से 12 फरवरी तक केतु के साथ ग्रहण दोष अशुभ।
2. 07 मार्च से 02 मई तक मंगल-शनि का अंगारक दोष।
3. 02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल-केतु का अंगारक दोष।
4. सूर्य 14 अप्रैल से 14 मई तक 8जी हाउस में अशुभ।

खुशी के पल
1. 01 जनवरी से 16 जनवरी तक गुरु-मंगल का परिजात योग।
2. 18 सितम्बर से 06 अक्टूबर तक स्वगृही व उच्च के बुध आपकी राशि में भद्र योग बना रहे है।
3. गुरू-शुक्र का शंख योग 01 सितम्बर से 11 अक्टूबर तक रहेगा।

सफलता के चमत्कारिक उपाय
गणेश मंत्र ’’ऊँ गं गणपतये नमः’’ अथवा ऊँ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः मंत्र के 27 हजार जाप करें अथवा करवाएं। बुध यंत्र की पूजा उपासना, बुधवार का व्रत, गणपति अथर्वशीष र् का पाठ करना/करवाना। हरे मूंग, हरे वस्त्र, पन्ना, कांसी के बर्तन, केसर-कस्तुरी पंचरत्न, धामि र्क पुस्तकों के दान करना लाभदायी रहेगा।

सफलता का सूत्र
किसी भी विपरीत परिस्थिति से विजयी होकर बाहर निकलने के लिए साहस और पॉजीटिव एटिट्यूट की जरूरत होती है। तभी उससे पार पाया जा सकता है। क्योंकि आपके अंदर डरपोक होने का एक अवगुण विद्यमान है, इसे स्वयं में कुछ बदलाव करके आप हमेशा के लिए दूर कर सकते है तो देर किस बात की है। 2018 आप ही का इंतजार कर रहा है।

सिंह राशि 2018

सकारात्मक पक्ष
इस राशि में स्वतंत्र प्रेम और उदारता विशेष रूप से विद्यमान है। सिंह राशि के इंसान अति-महत्वकांक्षी, उच्चाभिलाषी तथा इनकी आशाएं व अपेक्षाएं अधिक होती हैं तथा उन्हें प्राप्त करने के लिए प्रयत्नशील भी रहते हैं। अल्पक्रोधी होने के पश्चात् भी इंसान एकाएक उत्तेजित नहीं होकर धैर्य एवं समझ से काम लेता है।

नकारात्मक पक्ष
आप प्रसन्नचित रहते हैं परन्तु कभी-कभी जरा-सी बात भी उन्हें चुभ जाती है। फिर भी आक्रोश एकाएक उद्घटित नहीं करते। विशेषकर परिवार के प्रति पूर्ण समर्पण भाव रखने के पश्चात् भी आप कहीं से भी सहानुभूति हासिल नहीं कर पाते इस कारण आप खिन्न भी रहते हैं। सरल भाषा में कहा जाएं तो आपको यश नहीं मिल पाता।

व्यापार
शनि की तीसरी दृष्टि बिजनस हाउस पर होने से व्यवसाय में आप अच्छा करेंगे। प्रोफिट होने के पूरे-पूरे चांसेस है। बड़ा निवेश करने के लिए यह साल आपके लिए अच्छा कहा जा सकता है परन्तु बड़ा निवेश करने से पहले अनुभवी से सलाह अवश्य लें। पार्टनरशिप का व्यवसाय लाभदायक रहेगा।यदि आप इलेक्ट्रोनिक्स और सोलर प्लांट मे लम्बे समय के लिए निवेश करते है तो काफी हद तक आपके लिए सही साबित होगा।

नौकरी
11 अक्टूबर से गुरू के कारन नौकरी-पेशा वाले इस साल अपने कार्यस्थल में अच्छा काम करेंगे। उच्च पद मिलने की संभावना है। इस साल काम के सिलसिले में यात्राएं भी करनी पड़ सकती है। ये यात्राएं आपको शुभ फल प्रदान करेगी। ऑफिस की पॉलीटिक्स से स्वयं को बचाए रखें अन्यथा बेवजह आपकी इमेज खराब होने की पूरी संभावनाएं नजर आ रही है। कार्यस्थल पर अत्यधिक कार्य के चलते शारीरिक और मानसिक दोनों तरह की ही थकान का सामना आपको करना पड़ सकता है।

वित्त
आपको इस साल पैसों की तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा। उधार दिया गया पैसा समय पर मिल जाएगा। आपकी जिंदगी बड़े ही सुकून से चलने वाली है। पैसे बचाने में सक्षम रहेंगे। ताकि जरूरत पड़ने पर किसी और के आगे हाथ फैलाने की आवश्यकता नहीं होगी।

परिवार एवं सम्बन्ध
शनि के कारण गृहस्थ जीवन बड़ा ही सुखद रहने वाला है। जिंदगी के हर मोड़ पर जीवनसाथी व परिवार का साथ मिलता रहेगा। जो ना केवल आपके मनोबल को बढ़ाएगा। बल्कि उस स्थिति से बाहर निकलने में आपकी मदद भी करेगा। जीवन साथी के साथ संबंधों में मधुरता आएगी। परिवार के साथ धार्मिक स्थानों की यात्रा के योग बन रहे है।
यह साल प्यार के मामले में मिले-जुले परिणाम देने वाला है। पार्टनर के साथ विदेश यात्रा के योग बन रहे है। लव लाइफ को माता-पिता का साथ अवश्य मिलेगा। जिसके परिणामस्वरूप रिलेशनशिप में आप थोड़ा सहज महसूस करेंगे।

स्वास्थ्य
राहु के कारण 14 जनवरी से 12 फरवरी तक सूर्य-केतु का ग्रहण दोष बना होने से कोई पुराना रोग आपको परेशान कर सकता है। सेहत के मामले में बिल्क ुल भी लापरवाही ना बरतें। सेहत का विशेष ध्यान रखें। जीवनशैली में बदलाव करें, खान-पान पर विशेष ध्यान दें। योग-व्यायाम, प्राणायाम करते रहें। डॉक्टरी सलाह एवं औषधि का सेवन समयानुसार करते रहें।

विद्यार्थी
विद्यार्थियों को इस साल पढ़ाई में अधिक मेहनत करनी होगी। अपने लक्ष्य पर अधिक ध्यान केन्द्रित करेंगे। पढ़ाई के लिए कुछ अतिरिक्त समय भी निकालेंगे। मेडिकल की पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट्स को सफलता संभव है। टेक्निकल फील्ड में करियर बनाने वालों के लिए यह समय आशानुकूल सफलता वाला बना हुआ है। कड़ी मेहनत इस क्षेत्र में सफलता के मार्ग खोलेगी। शिक्षा के क्षेत्र में पूर्ण सफलता का योग नहीं बन पाने के कारण खिन्नता बनी रहेगी। एकाग्रचित्तता के लिए योग एवं मेडिटेशन का सहारा लें।

कौनसी मित्र राशि और कौनसी शत्रु
सिंह राशि वाले लोगों के लिए सिंह, तुला, वृश्चिक, धनु, वृषभ, मिथुन राशि वालों से लाभ की स्थिति बन सकती है। आप इनसे मित्रता, व्यावसायिक संबंध भागीदारी में व्यापार, एवं उनके साथ इनवेस्ट कर सकते है तथा कन्या, मकर, कुंभ, मीन, मेष, कर्क राशि वाले लोगों से जहां तक संभव हो दूरी बनाए रखें।

कौनसा अंक और रंग है शुभ
सिंह राशि के लिए 1, 3, 4 लक्की नम्बर तथा नारंगी, पीला, लाल रंग शुभ रहेगा।

विशेष सावधानी बरतने वाला समय
1. सूर्य 14 जनवरी से 12 फरवरी तक केतु के साथ ग्रहण अशुभ।
2. 07 मार्च से 02 मई तक मंगल-शनि का अंगारक दोष।
3. 02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल-केतु का अंगारक दोष।
4. सूर्य 14 मार्च से 14 अप्रैल अशुभ।

खुशी के पल
1. 01 जनवरी से 16 जनवरी तक गुरु-मंगल का परिजात योग।
2. 16 जनवरी से 07 मार्च तक स्वगृही मंगल रूचक योग।
3. गुरू-शुक्र का शंख योग 01 सितम्बर से 11 अक्टूबर तक रहेगा।

सफलता के चमत्कारिक उपाय
आप नित्य स्फटिक की माला से ’’ऊँ घृणी: सूर्याय नमः’’ मंत्र के 28 हजार जाप करें। सूर्य यंत्र की विधिवत् पूजा करें। रविवार का व्रत (स्त्रियों के लिए रविवार व्रत/बिना नमक का भोजन करें। गेहूं, गुड़, ताम्रपात्र, स्वर्ण, तिल आदि का दान करना हितकर रहेगा।)

सफलता का सूत्र
आपने यह बात तो अवश्य सुनी होगी कि गुस्सा अक्ल को खा जाता है। गुस्से में कोई भी निर्णय सही तरीके से लिया जाना असंभव है और जब डिसीजन ही गलत हो तो कोई भी कार्य सही कैसा हो सकता है। इस साल अपनी इस कमी को दूर करके आप टेंशन फ्री सुखमय जीवन जी सकते है।

कर्क राशि 2018

सकारात्मक पक्ष
आपकी राशि के स्वामी चन्द्रमा जो शीतल, सौम्य एवं शुभ ग्रह है। इस कारण आप सदैव प्रसन्नचित, शांत एवं हंसमुख प्रकृति के ही होते हैं, पर चन्द्रमा का प्रभाव मन और मस्तिष्क पर अधिक रहता है। पूर्णतया सांसारिक होते हुए भी चतुर व नीतिवान तथा परोपकार होते हैं।

नकारात्मक पक्ष
आप शारीरिक श्रम अधिक नहीं कर सकते क्योंकि आलस्य व निराशा की भावना आपमें आवश्यकता से अधिक रहती है। माता-पिता से भी आपके संबंध मधुर नहीं रह सकते। आप पर अन्य लोगों का प्रभाव शीघ्र आ जाता है। दूसरों की समझाइश को शीघ्र मान लेते हैं।

व्यापार
2 मई से 6 नवम्बर तक मंगल उच्च के रूचक योग बनाकर बिजनस हाउस में होने से व्यवसाय में जीवन साथी का सहयोग प्राप्त होगा। बड़े-बुजुर्गों की सलाह कारोबार के विस्तार में आपके लिए वरदान साबित होगी। यदि आपका बिजनेस दवा, खनिज और तकनीक से जुड़ा है तो आप शानदार मुनाफे की उम्मीद कर सकते हैं। काम के लिए आपको कई यात्राएं भी करनी होंगी जो कि आपके लिए फायदेमंद रहेंगी। विदेशी कारोबार से भी आपको बढ़िया लाभ प्राप्त होगा। बिजनस में कई प्रकार के चेलेंजेज आएंगे। लेकिन अपने विवेक और प्राथमिकताओं को ध्यान में रखते हुए लिए गए हर फैसले आपको सफलताओं की उच्च सीढ़ी पर पदासीन करेंगे।

नौकरी
2 मई से 6 नवम्बर तक मंगल की चौथी र्दृष्ट कर्म भाव होने से नौकरी-पेशा वालों के लिए अपने कार्यक्षेत्र में आगे बढ़ने के कई सुनहरे अवसर मिलेंगे। जॉब में लगातार अच्छी परर्फोमेंस के चलते आउट ऑफ टर्न प्रमोशन की पूरी-पूरी संभावनाएं है। पद-प्रतिष्ठा के साथ-साथ सैलरी में बड़ी हाइक के चांसेस बन रहे है। इस अवसर पर निशक्तजनों की अवश्य मदद् करें।

वित्त
2 मई से 6 नवम्बर तक मंगल की धन भाव पर दृष्टि होने से यह वर्ष आर्थिक दृष्टि से मिला-ज ुला रहने वाला है। भविष्यफल 2018 के मुताबिक इस साल आपका सबसे अच्छा समय जनवरी से मार्च महीने तक का है। इस समय में आप कुछ अप्रत्याशित बदलावों को महसूस कर सकते है।

परिवार एवं सम्बन्ध
01 सितम्बर से 11 अक्टूबर तक गुरू-शुक्र का शंख योग बन रहा है। जीवन उतार-चढ़ाव का नाम है। हमेशा प्यार-मोहब्बत अथवा तल्खी ही बनी रहे, यह संभव नहीं। लेकिन विपरीत परिस्थिति में स्वविवेक द्वारा आप स्थिति को संभालने में सक्षम होंगे। फैमिली मैम्बर्स को सरप्राइज गिफ्ट देकर उन्हें उत्साहित करेंगे। यह साल बहुत ही खास कहा जा सकता है। परिवार में हंसी-खुशी का माहौल बना रहेगा। इस साल आपके सपनों के घर का ख्वाब पूरा हो सकता है।

रिश्ते मजबूत रहेंगे। संबंधों में मधुरता आएगी। पार्टनर के साथ इस साल किसी रोमांटिक डेट पर शानदार और यादगार पल बिताने में कामयाब रहेंगे। आपके और आपके पार्टनर के लिए यह समय जीवन पर्यन्त अविस्मणीय रहने वाला है।

स्वास्थ्य
शनि के कारन पूरे वर्ष सेहत का विशेष ध्यान रखना होगा। अन्यथा हाई ब्लड प्रेशर, गठिया, मधुमेह इत्यादि रोग परेशान कर सकते है। ऐसे में नियमित रूप से योग, प्राणायाम के साथ औषधि भी समय पर लेते रहें। ताकि बीमारी को काबू में रखा जा सके। घर और ऑफिस के अत्यधिक कार्य से थकान आपके चेहरे पर साफ देखी जा सकती है।

विद्यार्थी
छात्रों को कई सुनहरे मौके मिलने के योग है। अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए खूब पढ़ाई भी करेंगे। प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता का एक मात्र मंत्र एकाग्रता के साथ अपने लक्ष्य के प्रति समर्पण का भाव आपको विजयी बनाएगा। मार्च तक का महीना अपने लक्ष्य तक सफलता पूर्वक पहुंचने में सहायक सिद्ध होगा। वहीं मार्च के बाद शिक्षा क्षेत्र में एकाग्रता में कमी देखी जा सकती है। इस साल आपका एडमिशन मन चाहे कॉलेज में होने से आप जोश और उत्साह से भरकर पूरी मेहनत के साथ अपने लक्ष्य को प्राप्त करेंगे।

कौनसी मित्र राशि और कौनसी शत्रु
कर्क राशि वाले लोगों के लिए कर्क, कन्या, तुला, वृश्चिक, मीन, मेष राशि वालों से लाभ की स्थिति बन सकती है। आप इनसे मित्रता, व्यावसायिक संबंध, भागीदारी में व्यापार एवं उनके साथ इनवेस्ट कर सकते है तथा सिंह, धनु, मकर, कुंभ, वृषभ, मिथुन राशि वाले लोगों से जहां तक संभव हो दूरी बनाए रखें।

कौनसा अंक और रंग है शुभ
कर्क राशि के लिए 2, 5, 7 लक्की नम्बर तथा सफेद, हरा, मरून रंग शुभ रहेगा।

विशेष सावधानी बरतने वाला समय
1. सूर्य 14 जनवरी से 12 फरवरी तक केतु के साथ ग्रहण दोष अशुभ।
2. 07 मार्च से 02 मई तक मंगल-शनि का अंगारक दोष।
3. 02 मई से 06 नवम्बर तक मंगल-केतु का अंगारक दोष।
4. सूर्य 12 फरवरी से 14 मार्च तक अशुभ।

खुशी के पल
1. 01 जनवरी से 16 जनवरी तक गुरु-मंगल का परिजात योग।
2. 4जी हाउस में गुरू-शुक्र का शंख योग 01 सितम्बर से 11 अक्टूबर तक रहेगा।
3. 01 सितम्बर से 31 दिसम्बर तक उच्च के शुक्र मालव्य योग।

सफलता के चमत्कारिक उपाय
आप नित्य शिव पंचाक्षरी मंत्र ’’ऊँ नमः शिवाय’’ का जाप रूद्राक्ष की माला से करें। सफेद चन्दन की माला से ऊँ श्रां श्रीं श्रौं सः चन्द्रमसे नमः मंत्र के 44 हजार जाप करें। सोमवार का व्रत, शिव उपासना, रूद्राभिषेक-लघुरूद्र करना/करवाना, पारद शिवलिंग पर दूध, जल, गंगाजल, गन्ने का रस मिश्रित कर चढ़ाने से घर में खुशहाली तथा ऐश्वर्य सम्पन्नता, धन-धान्य से परिपूर्ण, संतति सुख, श्रीवृद्धि की प्राप्ति होगी। चावल, बांस
की टोकरी, कपूर-मोती एवं सफेद वस्त्रों के दान करें।

सफलता का सूत्र
समय आ गया है जब आपको अपने अंदर के आलस्य और निराशा के भाव को हमेशा-हमेशा के लिए बाहर निकालने का गंभीर प्रयास करना चाहिए। ताकि आप अपने अंदर निहित इस बुराई का खात्मा करने के लिए इस साल सफल सिद्ध हो सके। मंजिल तक पहुंचने के लिए पहला कदम मुख्य होता है। अगर वो उठ गया तो मंजिल तक पहुंचना निश्चित है।