समाचार

स्वच्छता एप्प- त्वरित समाधान का नया माध्यम

स्वच्छ भारत अभियान के तहत भारत सरकर द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 किया जाना है, जिसमे स्वच्छता के मापदंड पर शहर की रेकिंग की जाती है. इसमे नागरिको की जागरुकता पर भी अंक दिया जाएगा. अतः आप सभी से अनुरोध है कि Google Play Store से अपने Android आधारित स्मार्ट फ़ोन …

समाचार

प्रशिक्षण शिविर का समापन एवं चेक वितरण

आज दिनांक 16-09-2017 को फुसरो नगर परिषद् कार्यालय परिसर में आयोजित एक  कार्यक्रम में  दीन-दयाल अन्त्योदय योजना राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन (DAY-NULM) के अंतर्गत 13 महिला स्वयं सहायता समूह को 10,000/- रूपये का चेक, प्रोत्साहन राशी, चक्रीय निधि (Revolving Fund) के रूप में प्रदान की गयी. 13 महिला स्वयं सहायता …

समाचार

स्वरोजगार हेतु ऋण

दिनांक 25-08-2017 को नगर परिषद् फुसरो के सभा कक्ष में दीनदयाल अन्त्योदय राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन (DAY-NULM) अंतर्गत स्वरोजगार हेतु कुल 59 आवेदन प्राप्त हुए. इस हेतु टास्क फाॅर्स की बैठक में कुल 59 आवेदनों में से 49 आवेदनों को ऋण प्रदान करने हेतु चयनित किया गया क्योकि 9 आवेदनकर्ता …

समाचार

होल्डिंग टैक्स

एक आवश्यक सूचना! 31 अगस्त है आखिरी तारीख स्वनिर्धारण प्रपत्र जमा करने का, नहीं तो वसूल की जायगी रुपये 2000 से 5000 तक की अतिरिक्त राशि. झारखंड नगरपालिका सम्पत्ति कर अधिनियम 2011 के तहत वैसे सभी होल्डिंग धारियों (गृह-स्वामियों) यह सूचित किया जाता है कि जिन्होंने अब तक अपने भवनों …

अपना शहर

फुसरो के बारे में : भाग-1

फुसरो, वर्तमान में झारखण्ड राज्य (पूर्व में बिहार राज्य) के उत्तरी छोटानागपुर प्रमंडल में बोकारो  जिला (1 अप्रैल 1991 से, पूर्व में हजारीबाग तत्पश्चात गिरिडीह जिला) के बेरमो अनुमंडल, प्रखंड सह अंचल एवं थाना के अंतर्गत एक छोटा किन्तु तीव्र गति से विकासशील शहर है. बेरमो विधानसभा (वर्तमान विधायक श्री …

अपना शहर

फुसरो के बारे में : भाग-2

जलवायु कर्क रेखा से लगभग 100 कि.मी. दूरी पर उत्तर की ओर स्थित होने के कारण यहाँ की जलवायु उष्णकटिबंधीय श्रेणी में आती है. यहाँ कभी भी मौसम की स्थिति एक सी नहीं रहती. मानसून के आगमन की बात करें तो, यदि अन्य कारक बाधक न हुए हों तो प्रतिवर्ष …

अपना शहर

फुसरो के बारे में : भाग-3

व्यवसाय फुसरो के कोयला बहुल क्षेत्र बेरमो में होने से यहाँ के लोगों की आजीविका पर प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष रूप से सी.सी.एल. का प्रभाव रहता ही है, हालाँकि विगत दशकों से हालत पहले जैसे नहीं हैं. यहाँ के लोगों का मुख्य व्यवसाय सी.सी.एल. के अंतर्गत निकलने वाली विभिन्न प्रकार की …