अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बेरमो ईकाई द्वारा स्वामी विवेकानंद जयंती-“युवा दिवस” का आयोजन

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बेरमो ईकाई के बैनर तले बेरमो के करगली फुटबाॅल ग्राउण्ड में आज स्वामी विवेकानंद जी की जयंती एवं राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया गया। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि गिरिडीह के लोकप्रिय सांसद श्री रवीन्द्र कुमार पाण्डेय ने कार्यक्रम में सम्मिलित होकर द्वीप प्रज्जवलित करते हुए कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।

उन्होंने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद जी का जन्म आज के ही दिन 1863 ई0 में कलकत्ता (अब कोलकाता) में हुआ था। उन्होंने अपने गुरू एवं शिक्षक राम कृष्ण परमहंस से शिक्षा ग्रहण की थी और अपना जीवन उन्हें सर्मिपत कर चुके थे। स्वामी विवेकानन्द जी वेदान्त के विख्यात और प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरु थे। उनका वास्तविक नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था। उन्होंने कहा कि स्वयं के भोजन के चिंता किये बिना वे गुरू सेवा में सतत संलग्न रहे, विवेकानन्द जी बड़े स्वप्न द्रष्टा थे। उन्होंने एक नये समाज की कल्पना की थी, वह समाज जिसमें धर्म या जाति के आधार पर मनुष्य में कोई भेद-भाव नहीं रहे।

विवेकानन्द को युवकों से बड़ी आशाएं थी। आज की युवकों के लिए इस सन्यासी के जीवन को आत्मसात करने की आवश्कता हैं। उन्होंने शिक्षक के रूप में कार्य किया। उनका शिक्षा पर अधिक बल रहता था। सांसद श्री पाण्डेय ने कार्यक्रम के अंतिम क्षण में कहा कि उनकी सोच थी कि शिक्षा प्रणाली ऐसी हो जिससे बालक का शारीरिक, मानसिक एवं आत्मीक विकास हो। जिससे बालक के चरित्र का निर्माण हो, मन का विकास हो, बुद्धि विकसित हो और बालक आल्मनिर्भर बने। उनकी सोच थी कि बालक एवं बालिकाओं को समान शिक्षा मिलें। उनका कहना था कि देश के आर्थिक प्रगति के लिए तकनिकी शिक्षा की व्यवस्था अत्यंत जरूरी है। स्वामी विवेकानन्द जी के वाणी से निकला हर एक शब्द अमृत के समान हैं। स्वामी विवेकानंद जी हमेशा से युवाओं को प्रेरित करते थे वो कहा करते थे ‘‘उठो, जागो और तब तक नहीं रूकों जब तक मंजिल प्राप्त न हो जाये।”

कार्यक्रम में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के श्री भरत वर्मा, विवेक पाठक एवं सभी सदस्यगण, श्री योगेश्वर महतो (बाटुल), श्री जगरनाथ राम बोकारो जिलाध्यक्ष (भाजपा), श्री राकेश वर्मा वरिष्ठ पत्रकार प्रभात खबर, श्री रवीन्द्र मिश्रा (भा.म.स.), श्री देवतानन्द दूबे सहित भारी संख्या में विद्यार्थी एवं युवा शामिल थे।

​संतोष कुमार मिश्रा 
सांसद आवासीय कार्यालय
गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र
कैम्प-बेरमो, फुसरो
जिला-बोकारो (झारखण्ड) ​