फुसरो के बारे में : भाग-3

व्यवसाय
फुसरो के कोयला बहुल क्षेत्र बेरमो में होने से यहाँ के लोगों की आजीविका पर प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष रूप से सी.सी.एल. का प्रभाव रहता ही है, हालाँकि विगत दशकों से हालत पहले जैसे नहीं हैं. यहाँ के लोगों का मुख्य व्यवसाय सी.सी.एल. के अंतर्गत निकलने वाली विभिन्न प्रकार की सिविल, सप्लाई व सेवा सबंधित निविदाओं को समय पर पूरा करना एवं सी.सी.एल. से ही कोयले की खरीद-बिक्री करना है.
इसके अलावे यहाँ मुख्य रूप से विभिन्न अनाजों, कपड़ों व अन्य दैनिक जीवन में काम आने वाली वस्तुओं के थोक व्यापर से लोग जुड़े हैं. विभिन्न प्रकार के दुपहिया व चारपहिया वाहनों के तथा इलेक्ट्रॉनिक्स एवं टी.वी., मोबाइल, कंप्यूटर आदि के शोरूम्स, सिनेमा हॉल, पेट्रोल पम्पस के साथ-साथ लोहे को गलाने वाली फैक्ट्री भी है. कुल मिला कर यहाँ दैनिक जीवन में उपयोग की जाने वाली वस्तुओं के थोक व्यापार से संबधित लोग कई अन्य लोगों के रोजगार का कारक तो बन ही रहे हैं साथ ही साथ छोटे-छोटे रोजगार भी फल-फूल रहे हैं.

आकर्षण
मेघदूत मार्किट का इलाका काफी सघन है, यहाँ लगभग हर प्रकार की चीजों की दुकाने, शोरूम्स, बैंक्स व ओफिसेस हैं. वस्तुतः इस इलाके को फुसरो का ह्रदय (सिटी सेंटर) कहा जाय तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी. सुबह करीब आठ बजे से ही लोगो की आवाजाही शुरू हो जाती है तथा चाय-पान आदि की दुकाने सजनी शुरू हो जाती हैं.
बैंक मोड़ से पुराना बी.डी.ओ. ऑफिस तक का नजारा शाम के समय देखने योग्य होती है. विभिन्न प्रकार के त्वरित व रेडीमेड व्यंजनों से दुकाने सज जाती हैं और लोगों, विशेष कर महिलाएं एवं बच्चों की भीड़ अधिक होती है, होटलों एवं रेस्तरां से ज्यादा भीड़ चाट पकोड़े व समोसे की छोटी-छोटी दुकानों पर भीड़ अधिक होती है.
सब्जी-मंडी में विभिन्न प्रकार की सब्जियां व फल उपलब्ध होते हैं. यदि आप ताजे फल व सब्जियों के शौक़ीन हैं तो आपको यहाँ सुबह-सुबह ही आकर अपनी पसंद की चीजों की खरीदारी कर लेनी होगी, हाँ दाम थोडे अधिक चुकाने होंगे, पर यदि आप शाम के समय खरीदारी करना चाहते हैं तो आपको कुछ कम कीमत पर सुबह की चीजें उपलब्ध हो सकती हैं. प्रायः कहीं काम करने वाले कर्मचारी चाहे वह सरकारी सेवा में हो अथवा निजी सेवा में, वे अक्सर शाम के समय सब्जी व फल खरीदते देखे जा सकते हैं.