सुस्वागतम्


 फुरसत में बके रोज पढ़ने योग्य सामग्रियां हैं फुसरो ई-पत्रिका में.

अपने व्यवसाय को रफ़्तार दें, संपर्क के लिए यहाँ करें

देखें, अपनी जानकारी वेबसाइट पर स्वयं कैसे जोड़े?

 आपकी राय महत्व रखती है : वोट करने के लिए यहाँ क्लिक करें.



भ्रष्टाचार को ख़त्म करने के लिए किस अवसर की तलाश है आपको?

मकोली स्थित उत्क्रमित विद्यालय के पास बी.आर.सी. भवन से रविवार की सुबह एंटी करप्शन ब्यूरो की धनबाद टीम ने बेरमो प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी महेन्द्र सिंह (फाइल फोटो) को 40 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर अपने साथ धनबाद ले गई। एसीबी की टीम ने यह कार्रवाई मनबहादुर थापा ...
Read More

भारतीय नववर्ष की शुभकामनाएँ

संवत 2075 चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के प्रारंभ पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएँ. जानिए कुछ महत्वपूर्ण तथ्य जो आज के दिन से सम्बंधित हैं. ब्रह्म पुराण के मतानुसार चैत्र प्रतिपदा से ही ब्रह्मा जी ने सृष्टि की रचना प्रारंभ की थी. इस कारण आज के दिन को सृष्टि दिवस भी कहा ...
Read More
गम न करें, सोचें और शुक्र अदा करें.

गम न करें – २२

खुश रहने का एक असूल। खुश रहने का एक असूल यह भी है कि, दूनियाँ को बस इतनी अहमियत दें, जितनी अहमियत की वह हकदार है। इसको इसकी सही दर्जा पर रखें। वह बहुत सी चीजों से जुदा करती है, हादसों को लाती है, गमो की बारिश करती है। जो ...
Read More

अथ यू.पी.-बिहार उपचुनाव कथा भाषा टीका

मैं घोषित राष्ट्रवादी हूँ। और भाजपा मेरी आशाओं के केंद्र में है जिसका फिलहाल मेरे पास कोई विकल्प उपलब्ध नही है। समान नागरिक संहिता, धारा 370 का निर्मूलन, राम मंदिर निर्माण, हिंदुत्व के पक्ष में खड़े होने का दमखम, छद्म पंथनिरपेक्षता के नाटक से दूरी, लम्बी अवधि की राष्ट्रहित की ...
Read More

भावपूर्ण श्रद्धांजली : नवल किशोर मित्तल

फुसरो के एक प्रतिष्ठित व्यवसायी श्री नवल किशोर अग्रवाल जी अब हम सभी के बीच नहीं रहे। 9 मार्च कि शाम 4 बजे उनके सबसे बड़े पुत्र विकास कुमार अग्रवाल ने दामोदर घाट के निकट मुखाग्नि दे कर उन्हें पंच तत्व मे विलीन किया। सभी वर्ग के लोगों के लिए ...
Read More
गम न करें, सोचें और शुक्र अदा करें.

गम न करें – 21

अल्लाह भगवान ने दुनिया में जितने प्राणी बनाये हैं, उनमें सबसे ज्यादा खूबसूरत, सबसे ज्यादा अकलमन्द, सबसे बड़ा ऊँचा प्राणी इन्सान को बनाया। मगर सबसे ज्यादा परेशान सबसे ज्यादा दुखी और सबसे निचले स्तर का प्राणी यह इंसान बन गया, इसकी वजह क्या है? इंसान के अलावा जितने प्राणी हैं ...
Read More

देश मना रहा वूमन डे

वाह रे दुनिया तेरी कहानी मेरा दुख और मेरी जवानी रो-रो कर जगती मे राते यही हकीकत हे जग जाने। वाह रे दुनिया पोस्ट बनाया नारी को शक्ति दिखलाया कह गए झूठ अपनेपन की और न जाने कितने सपने दिखलाया। अब भी मै अभियान बनी हूँ, अब भी झूठी शान ...
Read More

हाई टेक होली

पर्व त्योहारों को सामूहिक रूप से उल्लास पूर्वक मनाने की हमारी परंपरा रही है। इन दिनों हम अपने सगे-संबंधियों, पड़ोसियों से मिलने उपहार-मिठाई लेकर उनके घर जाया करते थे। छोटे-बड़े के बीच चरण-स्पर्श आशीर्वाद होता, बाकी लोग गले मिलकर बधाईयाँ देते। इस प्रकार सब आनंदित होते! जिनसे वो मिल न ...
Read More

क्यों न माने बुरा होली में

होली मेरी जिंदगी का सबसे खूबसूरत त्योहार हुआ करता था। सुबह से तेल चुपड़ कर हम निकल जाते पर असली होली खेलती थी हमारे यहाँ की औरतें। जब वे घर से पुआ तल कर बाहर निकलती तो मुहल्ले में बवाल ही मच जाता था। उनकी टोली हर घर जाती, महिलाओं ...
Read More
गम न करें, सोचें और शुक्र अदा करें.

गम न करें – २०

गम न करें आप इसका तजुर्बा कर चुके, बेटा फेल हुआ आपको गम हुआ तो क्या गम से वो कामयाब हो जायगा? वालिद की वफात हो गयी, आप शोक मन रहे हैं, तो क्या शोक से वो वापस आ जायेंगे. तिजारत में नुकसान हो गया. आप रंज करने लगे, तो ...
Read More
गम न करें, सोचें और शुक्र अदा करें.

गम न करें – १९

मायूसी- कल्व और रूह को सबसे ज्यादा तुरसुरु (बदमिजाज) बनाती है. लिहाजा अगर हँसना मुस्कुराना चाहते हो तो, मायूसी से लड़िये. फरहत आपको व तमाम लोगों को मिली है. कामयाबी का दरवाजा भी सबके लिए खुला है. अगर आप ये ख्याल करने लगेंगे के हम छोटे-छोटे कामों के लिए पैदा ...
Read More

चिन्तन – ०४

शैक्षणिक प्रतिबद्धताएँ - बच्चों के छेत्र में कार्य करने वालों में विशेष कर शिक्षकों में अपेक्षित प्रमुख शीलगुणों ( Traits ) में- कोमल हिर्दय, संवेदनशील, मृदुभाषी व्यक्तित्व, परानुभूति संपन्न व्यक्तित्व, वात्सल्यता, ममत्व, बच्चों की तरह सोचने वाले, त्वरित निर्णय और बाल हित में सोचने वाले, समय देने वाले, आपातस्थिति में ...
Read More
गम न करें, सोचें और शुक्र अदा करें.

गम न करें – १८

जिंदगी एक फन है, ऐसा फन जिसे सीखा जाये, इन्सान के लिए ज्यादा बेहतर ये है कि अपनी जिंदगी में वह फूलों, खुशबुओं और मोहब्बत के लिए मेहनत करे, बजाये इसके कि अपने जेब भरने या बैंक बैलेंस बनाने के लिए मेहनत करे. जिंदगी अगर माल व दौलत जमा करने ...
Read More

गम न करें – १७

बे-मौके सब शरीफ मतलब यह नहीं कि यह सीधे तौर पर आपके बारे में हैं. मतलब यह है कि यह उन सभी के बारे में है जो मौके पर शरीफ बनने का ढोंग रचते हैं और समय आने पर दूसरों को आगे कर खुद उनका समर्थन अथवा उनके साथ अथवा ...
Read More

राष्ट्र भक्ति और हम

शीर्षक के माध्यम से अपनी बात कहने की आजादी चाहता हूँ। राष्ट्र और राष्ट्र भक्ति को हम में से हर एक के जीवन में प्रथम स्थान प्राप्त है, इसमें कोई संदेह नहीं है। पर इसे प्रर्दशित करने के अपने-अपने तरीके हैं। जिस तरह एक सैनिक सीमा पर दुश्मनों से लोहा ...
Read More
गम न करें, सोचें और शुक्र अदा करें.

गम न करें – १६

दुनिया में आगर आप मोहताज या गमगीन हों या मर्ज लाहक हो जाए या आपका कोई हक मार ले या कोई जुल्म आप पर हो, तो आप हमेशा रहने वाली जगह जन्नत को याद कर लें. जब आप ऐसा करने लगेंगे और जन्नत को पाने के लिए नेक काम करने ...
Read More

चिन्तन – ०३

सुप्रभात, आज का दिन मंगलमय हो एवं उमंग, सार्थक चिंतन, हर्षोल्लास में व्यतीत हो। देश की आजादी सही मायने में तभी चरितार्थ हो सकती है जब देश मे लिंग भेद के नाम पर वर्गीकरण न हो, महिलाओं, बच्चों के अधिकारों की रक्षा हो व सम्मान मिले, शिक्षा व आजादी मिले। ...
Read More
दान देते कृष्ण कुमार और साथ में आस्था पुनर्वास केंद्र के डॉ.शशिकांत सिंह

बाबा आम्टे नगरवासियों का ऐसे मना गणतंत्र दिवस

फुसरो नगर परिषद उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार ने अपने चिर-परिचित अंदाज में मनाया गणतंत्र दिवस. 26 जनवरी 2018 को झंडोत्तोलन के पश्चात वे अपने सहयोगियों साथ निकल पड़े उस बस्ती की ओर जहाँ सभी विभिन्न मौकों पर गरीबों को दान देने जाया करते हैं. जी हाँ, आपने सही समझा, बाबा आमटे ...
Read More
गम न करें, सोचें और शुक्र अदा करें.

गम न करें – १५

कुछ लोग होते हैं, जिनके जेहन में, बिस्तर पर लेटे हुए आलमी जंग (world war) होती रहती है. इन्हें सुगर व ब्लड प्रेशर जैसी बीमारी हो जाती है. वाकयात से वो झुलसते रहते हैं. कीमतों में बढ़ोत्तरी हुई इन्हें गुस्सा आया, बारिश क्या हुई वो दहाड़ने लगे, करेंसी की कीमत ...
Read More

चिन्तन – ०२

शुभ प्रभात , आज का दिन मंगलमय और हर्षोल्लास में व्यतीत हो। जीवन की सार्थकता मौलिक चिंतन, सर्जनात्मक अभिव्यक्ति , निष्काम कर्म, सत्यग्राही , श्रमशीलता, सद्व्यवहार, शालीनता, उदारता, ईमानदारी, सच्चरित्रता, न्यायनिष्ठ, कर्तव्यनिष्ठ, धर्मनिष्ठ, आध्यात्मिक चिंतन, अन्तःकरण की शुद्धता आदि में निहित है। उत्कृष्ट चिंतन और आदर्श कर्तव्य की एक परिष्कृत ...
Read More
राष्ट्रीय कवि संगम धनबाद जिला इकाई द्वारा राज्य स्तरीय कवि सम्मेलन का आयोजन

राष्ट्रीय कवि संगम धनबाद जिला इकाई द्वारा राज्य स्तरीय कवि सम्मेलन का आयोजन

दिनांक 21 जनवरी 2018 को आई.एस.एम. धनबाद में राष्ट्रीय कवि संगम धनबाद जिला इकाई द्वारा राज्य स्तरीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमें झारखंड के कुल 108 कवि गणों ने भाग लिया. राष्ट्रीय कवि संगम प्रायः ही ऐसे आयोजनों द्वारा राष्ट्र जागरण का पावन कार्य करता है. युवा और ...
Read More
गम न करें, सोचें और शुक्र अदा करें.

गम न करें – १४

दायें बाएं देखिये हर तरफ मुसीबत जदा दिखाई देंगे. हर घर में हंगामा बरपा है. हर रुखसार पर आंसू है. हर वादी में मातम है. आप देखेंगे मुसीबत जदा आप तनहा नहीं. दूसरों के मुसीबत के मुकाबले में आपकी मुसीबत कम है. कितने ही मरीज हैं जो सालो साल से ...
Read More

चिन्तन – ०१

शुभ प्रभात, आज का दिन मंगलमय हो एवं उमंग, सार्थक चिंतन, आत्मोत्थान की ओर अग्रसर एवं हर्षोल्लास मे व्यतीत हो। आज का विषय : शिक्षा अनुशासन, ईमानदारी, विवेक, विनम्रता, त्याग, शिष्टाचार, सत्यता, सदाचार, सच्चरित्र, परानुभूति, मिर्दुभाषी, कोमल ह्रदय, धैर्यवान, कर्तव्यनिष्ठ, कुशल नेतृत्व संचालन आदि शीलगुणों ( Traits ) सरीखे संस्कार, ...
Read More
महज एक मोबाइल के लिए नितेश की कर दी गयी हत्या.

बच्चों में मोबाइल का बढ़ता उपयोग एवं इसके दुष्परिणाम – डॉ. प्रभाकर कुमार

आज का समय भौतिकवादी, आपसी प्रतिस्पर्धा का, सामाजिक चकाचौंध की एवं सूचना प्रौद्योगिकी का बढ़ना व सहज रूप से मिलना, इंटरनेट सर्वसुलभ होना और कम पैसों में 4G की सुविधा मिल पाना है। बच्चों में अनुकरण करने की प्रवृति अत्यधिक होती है, बच्चे अपने घरों एवं माता पिता के व्यवहारों ...
Read More

कोई सुन रहा है इन बेजुबानों की… और आप?

बिजली के नंगे तारो पर अक्सर पंछियों की बैठक होती है, और इन खतरों से अनजान पंछी कभी कभी बिजली के झटके से घायल भी हो जाया करते हैं। जिन्दगी किसी की भी हो, अनमोल होती है, चाहे वो इंसान हो या फिर जानवर। ये कहना है पेशे से व्यवसायी ...
Read More
गम न करें, सोचें और शुक्र अदा करें.

गम न करें – १३

नरमी जिस चीज में होगी, उसे जीनत देगी. जिस चीज से निकाल ली जायगी, उसमे ऐब पैदा होगा. बातचीत में नरमी, चेहरे पर मुस्कूराहट, गुफ्तगू के वक्त अच्छी बात, यह, वह बेहतरीन अवसाफ (गुण) हैं, जो खुशनसीबों के हिस्से में आते हैं. ये बेहतरीन इंसानों की शिफात है. इनकी मिसाल ...
Read More
हो जायें सावधान, जब बच्चा बोले, बस एक मिनट और!

हो जायें सावधान, जब बच्चा बोले, बस एक मिनट और!

आजकल घरों में प्रायः ही यह देखने को मिल जाता है कि जब आप अपने बच्चों को कोई काम कहें तो आपको उत्तर मिलता है- “बस एक मिनट और!” मतलब स्त्पष्ट है कि आपका बच्चा बहुत ही व्यस्त है, और उसकी यही व्यस्तता इस प्रकार के उत्तर का कारण भी ...
Read More
गम न करें, सोचें और शुक्र अदा करें.

गम न करें – १२

ऐ! इन्सान, भूख के बाद शिकमशेरी (पेट भर खाना) है, प्यास के बाद शैराबी है, जागने के बाद नींद है, बीमारी के बाद सेहत है. गुमकर्दा मंजिल पायगा, मुशक्कत उठाने वाला आसानी हासिल करेगा, अँधेरे छंट जायेंगे, रात को बशारत दो सुबह की, जो इसको पहाड़ों की तरफ धकेल देंगे ...
Read More

रिजेक्टेड कोल सेल बनाम सलेक्टेड कोल सेल, हादसा : नरगिस खातून की मौत का जिम्मेवार कौन?

नरगिस खातून की मौत का जिम्मेवार कौन? घटना के बाद प्रबंधन ने रिजेक्ट सेल बंद किया. अवैध वसूली प्रतिमाह करोड़ों में. क्या एक युवती की मौत की कीमत 50 हजार रुपये है? सी.सी.एल. बी.एंड के. प्रक्षेत्र के करगली वाशरी परियोजना के बालू बैंकर स्थित रिजेक्ट सेल प्वांट में चाल धसने से हुई ...
Read More
Loading...